Loading...

केले के फल में बीज नहीं होते फिर नया पौधा कैसे उगता है | GK IN HINDI

यह तो हम सभी जानते हैं कि 2 महीने में लहलहाने वाली फसल हो या फिर सदियों तक मजबूती के साथ खड़े रहने वाला कोई पेड़, उसकी जड़ में एक बीज होता है। हर पौधे का जन्म एक बीच की गर्व से होता है और यह भी उसी पौधे के फल में पाया जाता है। गेहूं या आम, खेत हो या बगीचा हर फल के अंदर उसका बीच पाया जाता है लेकिन केले के फल के अंदर कोई बीज नहीं पाया जाता। प्रश्न सिर्फ इतना सा है कि यदि केले के फल के अंदर बीज नहीं होता तो फिर केले के नए पौधों का जन्म कैसे होता है। 

केले का बीज कहां पाया जाता है 

दरअसल केले का बीज उसके पल में नहीं बल्कि जड़ में होता है। हर केले के पेड़ की जड़ में कम से कम चार या पांच स्वस्थ बड़े बीज होते हैं। यानी हर पौधा जब पेड़ बनता है तो अपने साथ कम से कम 5 नई पेड़ों के लिए बीज तैयार करके जाता है। इसके अलावा तीन या चार छोटे बीज भी होते हैं। इनके बारे में गारंटी के साथ नहीं कहा जा सकता कि पौधा आएगा परंतु अच्छी मिट्टी में 60% तक परिणाम देते हैं। 

केले के पौधे की धार्मिक मान्यता 

केले का फल स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है यह तो सभी जानते हैं लेकिन हम बताते हैं आपको किसकी विशेष धार्मिक मान्यता भी है। हिंदू धर्म ग्रंथों के अनुसार घर में तुलसी के पौधे के बाद केले के पेड़ का सबसे ज्यादा महत्व बताया गया है। कहते हैं भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए केले का पौधा लगाना चाहिए। ग्रहों में यह बृहस्पति का प्रतिनिधि वृक्ष है। इससे घर में सुख और समृद्धि आती है। केले का पौधा संपन्नता लाता है। 
Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article
(current affairs in hindi, gk question in hindi, current affairs 2019 in hindi, current affairs 2018 in hindi, today current affairs in hindi, general knowledge in hindi, gk ke question, gktoday in hindi, gk question answer in hindi,)