ग्वालियर घने कोहरे की चपेट में, विजिबिलिटी 0 हुई | GWALIOR NEWS
       
        Loading...    
   

ग्वालियर घने कोहरे की चपेट में, विजिबिलिटी 0 हुई | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। ग्वालियर चंबल संभाग सहित प्रदेश के अधिकांश जिले घने कोहरे की चपेट में हैं। ग्वालियर-चंबल संभाग में आज सुबह दृश्यता जीरो पर पहुंच गई। वहीं भोपाल में 200 मीटर दर्ज की गई। दृ्श्यता कम होने से रेल यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है। दिल्ली से आने वाली अधिकांश ट्रेने देरी से चल रही हैं। अचनाक बदले मौसम से भोपाल के तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। सुबह 11 बजे अधिकतम तापमान 13.6 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अमुसार शनिवार दिन का अधिकतम तापमान 17 से 18 डिग्री के बीच रह सकता है। वहीं रात सबसे ठंडी हो सकती है।  

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार सुबह मौसम इसलिए बदला कि उत्तर से सीधी बर्फीली हवाएं आ रही हैं। इस वजह से तापमान में गिरावट आई है। वहीं नमी ज्यादा होने कोहरा छाया हुआ है। शनिवार रात प्रदेश में कई जिलों में ठंडी रात हो सकती है। इसी के साथ शनिवार दिन का तापमान में भी काफी गिरावट दर्ज की जाएगी।  ग्वालियर-चंबल संभाग में आज सुबह से घना कोहरा छाया हुआ है। सुबह साढ़े छह बजे दृश्यता जीरो दर्ज की गई। वहीं दृश्यता खजुराहो 100, जबलपुर 700, भोपाल 200, जबलपुर 500 दर्ज की गई। 

बीते 24 घंटों के दौरान प्रदेश के शहडोल संभाग के जिलों में कहीं-कहीं हल्की बारिश दर्ज की गई है। शेष संभागों में मौसम शुष्क रहा। ग्वालियर एवं सागर संभाग के सभी जिलों में घने से अति घना कोहरा  तथा रीवा, उज्जैन भोपाल संभाग के सभी जिलों में मध्यम कोहरा छाया रहा। मौसम विभाग के अनुसार रविवार को भी सागर, रीवा, ग्वालियर, चंबल संभाग में घना कोहरा छाया रहेगा। वहीं उज्जैन, भोपाल एवं जबलपुर के सभी जिलों में मध्यम या हल्का कोहरा छाया रहेगा। ग्वालियर एवं सागर संभाग और बैतूल, नरसिंहपुर, रायसेन, भोपाल एवं खरगौन जिलों में शीतलहर चलेगी। 

मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बीते 24 घंटे में न्यूनतम तापमान पांच डिग्री शिवपुरी में दर्ज किया गया, वहीं रतलाम में 7.2 और बैतूल में 7.7 डिग्री दर्ज किया गया। बीती रात न्यूनतम तापमान भोपाल 11.0, इंदौर 10.0, 10.8 और जबलपुर में 14.0 डिग्री दर्ज किया गया। राजधानी भोपाल में शनिवार सुबह से हल्का कोहरा छाया हुआ है। कोहरे की वजह से दिल्ली से आने वाली सभी ट्रेन देरी से चल रही हैं। उत्तर से आ रही ठंडी हवाएं सिहरन पैदा कर रही हैं। हालांकि न्यूनतम और अधिकतम तापमान में थोड़ी बढ़ोतरी से मामूली राहत मिली है। 

ग्वालियर मौसम केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार बादल छाने और उत्तरी की जगह पश्चिमी हवा बहने से शहर के मौसम में पिछले चार दिन में ठंडक तेजी से कम हुई है। नतीजा- 3 जनवरी की रात को 5 साल के दौरान सबसे अधिक तापमान दर्ज किया गया। शुक्रवार को रात का पारा 10.4 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि इससे पहले 3 जनवरी 2015 को रात का पारा 14.5 डिग्री दर्ज हुआ था। शुक्रवार दोपहर बाद बादल थोड़ा घने हो गए, जिससे सूरज बादलों के बीच दोपहर 3 बजे के बाद छिप गया। इससे शाम 4 बजे के बाद दिन में लोगों ने ठंड का अहसास किया।