सीधी में तरुण कुमार दरोगा और बाबूलाल मुंशी रिश्वत लेते गिरफ्तार | MP NEWS

रामबिहारी पांडेय/सीधी। जिले के कुसमी थाना के पोड़ी पुलिस चौकी के प्रभारी सहित प्रधान आरक्षक रिश्वत के चार हजार रूपये लेते पकड़े गये है। दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्यवाही करने की बात लोकायुक्त पुलिस ने किया है। लोकायुक्त पुलिस की थानों मे पदस्थ पुलिस के रिश्वत लेते पकड़ने का यह दूसरा मामला सामने आया है। इसके पूर्व कोतवाली का एक आरक्षक रेत परिवहन करने वाले वाहन मालिक से रिश्वत लेते पकड़ा गया था। 

मिली जानकारी के अनुसार छोटे लाल पठारी को अवैध शराब बेचने के अपराध मे पकड़ गया था उसके खिलाफ पोड़ी पुलिस प्रकरण दर्ज न करने के बदले 5 हजार रूपये की मांग की थी। छोटेलाल ने एक हजार रूपये देकर पुलिस से पीछा तो छुड़ा लिया था लेकिन पुलिस लगातार उससे चार हजार और पहुंचाने का दबाव बना रही थी। तंग आकर छोटेलाल ने लोकायुक्त रीवा से शिकायत कर दी। जिसपर लोकायुक्त रीवा की पुलिस ने शिकायत की पुष्टि करने के बाद पोड़ी पुलिस के चेहरे पर पड़े इमानदारी के नकाब को उतारने की योजना बना कर शुक्रवार की सुबह पकड़ने पहुंच गई। 

फरियादी छोटेलाल पौड़ी पुलिस चौकी के प्रभारी तरुण कुमार को रिश्वत देने की पेशकश किया तो उन्होने प्रधान आरक्षक को पैसे देने को कह कर भेज दिया। फरियादी ने मुंशी बाबूलाल रावत को पैसे देकर मामले को रफादफा करने की बात कर ही रहा था कि लोकायुक्त पुलिस पहुंचकर मुंशी के पास से रिश्वत के चार हजार और फाईल को जप्त कर कार्यवाही  की है। लोकायुक्त पुलिस ने दोनो पुलिस के जिम्मेदारों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 7 के तहत कार्यवाही कर रही है समाचार लिखेजाने तक लोकायुक्त पुलिस दस्तावेज खगाल रही थी।