प्रदर्शनकारी सहायक प्राध्यापक बीमार पड़ने लगे हैं, राज्यपाल ने मिलने बुलाया | MP NEWS
       
        Loading...    
   

प्रदर्शनकारी सहायक प्राध्यापक बीमार पड़ने लगे हैं, राज्यपाल ने मिलने बुलाया | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित असिस्टेंट प्रोफेसरों का आंदोलन जारी है। पदयात्रा और 4 दिन के विरोध प्रदर्शन के बाद अब प्रदर्शनकारी बीमार पड़ने लगे हैं। प्रदर्शनकारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुलाकात की एवं न्याय की मांग की।

राज्यपाल ने मिलने बुलाया था, प्रतिनिधिमंडल पहुंचा

एमपीपीएससी चयनित सहायक प्राध्यापक संघ मप्र के तत्वाधान में चलने वाले "संविधान रक्षा आंदोलन" के प्रतिनिधिमंडल को महामहिम राज्यपाल महोदय ने आज 12.45PM पर राजभवन बुलाया था। 11 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल डॉ प्रकाश खातरकर (प्रदेश अध्यक्ष) के नेतृत्व में महामहिम से मिला और उनको संविधान की प्रति और बाबा साहब अंबेडकर की प्रतिमा जो कि ये सहायक प्राध्यापक बाबासाहेब के जन्म स्थल महू से पैदल लेकर आये थे, भेंट कर स्वयं के संवैधानिक अधिकार (नियुक्ति) की मांग की और उनको अपनी पीड़ा से अवगत कराया।

हाईकोर्ट ने असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति के लिए मध्य प्रदेश सरकार को स्वतंत्र कर दिया है

इस प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश उपाध्यक्ष श्री हरिशंकर कंसाना और महासचिव श्री हितेश वाणी सहित 11 सदस्य सम्मिलित थे। प्रतिनिधिमंडल ने महामहिम से निवेदन किया कि 15 माह के लंबे इंतजार के पश्चात भी मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग जैसी संवैधानिक संस्था से चयन होने पर भी शासन ने अभी तक मात्र 33 लोगों को ही जॉइनिंग दी है और मात्र 124 लोगों को जॉइनिंग देने का बोल रहा है। लगभग 2500 चयनित अभ्यर्थियों को शासन नियुक्ति नहीं दे रहा है जबकि माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर के आदेश अनुसार लगभग 2500 चयनितों को नियुक्ति देने के लिए शासन स्वतंत्र है।

प्रदर्शनकारी सहायक प्राध्यापक बीमार पड़ने लगे हैं

इतनी लंबी दूरी से पैदल चलने के कारण इन सहायक प्राध्यापकों के पैरों में बड़े-बड़े छाले पड़ गए हैं एवं कई सहायक प्राध्यापक निरंतर यात्रा और पिछले 4 दिन से नीलम पार्क में खुले आसमान के नीचे रहने के कारण से बीमार पड़ने लगे हैं। इनकी समस्त पीड़ाओं को महामहिम ने ध्यानपूर्वक सुना और इनके प्रतिनिधिमंडल को विश्वास दिलाया कि वे मुख्यमंत्री और उच्च शिक्षा मंत्री से बात करके इनकी समस्या को सुलझाने का प्रयास करेंगे।

मध्य प्रदेश शिक्षक संघ एवं वैज्ञानिक डॉक्टर तेज प्रताप ने समर्थन दिया

वहीं धरना स्थल पर नीलम पार्क में कई विद्वान शिक्षकों एवं प्राध्यापकों का इन्हें निरंतर समर्थन पत्र मिल रहा है मध्य प्रदेश शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष लछीराम इंगले ने धरना स्थल पर आकर पीएससी चयनित प्रदर्शनकारियों को समर्थन पत्र देते हुए शासन से शीघ्र नियुक्ति की मांग करी। वहीं अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक डॉ तेजप्रताप पूर्णानंद व्यास ने भी धरना स्थल पर आकर चयनितों को संबोधित करते हुए सांत्वना दी और प्रेरित करते हुए कहा कि जब तक आपको आपके अधिकार नहीं मिल जाते हैं तब तक आप आंदोलन की निरंतरता को बनाए रखें और उन्होंने शासन से अपील की कि इन्हें शीघ्र नियुक्ति प्रदान की जाए ताकि महाविद्यालयों का शैक्षणिक स्तर ऊंचा उठ सके।

प्रदर्शनकारी सहायक प्राध्यापकों ने हस्ताक्षर अभियान चलाया

आज इन सहायक प्राध्यापकों के संगठन सलाहकार समिति के सदस्य श्रीप्रकाश वास्कले के नेतृत्व में हस्ताक्षर अभियान चलाया इस हस्ताक्षर अभियान में इन सहायक प्राध्यापकों ने भोपाल की गलियों में घूम घूम कर जनसामान्य से स्वयं के अधिकारों की मांग की और शासन की उदासीनता से अवगत कराया। लगभग 1500 आमजन ने हस्ताक्षर करके पीएससी चयनितो के नियुक्ति के अधिकार हेतु इन सहायक प्राध्यापकों का समर्थन किया है।