Loading...

जाति प्रमाण पत्र मामले में गुना सांसद केपी यादव और उनके बेटे के खिलाफ FIR दर्ज | MP NEWS

भोपाल। गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से सांसद एवं इन दिनों भारतीय जनता पार्टी के नेता कृष्ण पाल सिंह यादव एवं उनके बेटे सार्थक यादव के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया गया है। यह मामला थाना कोतवाली जिला अशोकनगर में अपराध क्रमांक 0/19 के पर धारा 420,120बी,181,182 के तहत दर्ज किया गया है।

सांसद के पी यादव के खिलाफ मामला दर्ज किया हुआ 

मामला 2014 का है। तब केपी यादव कांग्रेस के नेता हुआ करते थे और ज्योतिरादित्य सिंधिया के भक्त। अपने बेटे सार्थक यादव को आरक्षण का लाभ दिलाने के लिए के पी यादव ने अपनी वार्षिक आय ₹600000 से कम बताई थी। जबकि चुनाव घोषणा पत्र में उन्होंने अपनी वार्षिक आय उन 39 लाख रुपए बताई। इसी मामले की शिकायत हुई थी। जांच में आरोप सही पाए गए। एसडीएम मुंगावली ने सांसद के पी यादव और उनके बेटे सार्थक यादव का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर शेष कार्रवाई के लिए फाइल कलेक्टर अशोकनगर के पास भेज दी। कलेक्टर अशोकनगर के आदेश पर मामला दर्ज किया गया। 

7 साल की सजा और चुनावी राजनीति खत्म 

सांसद कृष्णपाल सिंह यादव को चुनाव लड़ने का बड़ा शौक है। विधानसभा का टिकट ना मिल पाने के कारण केपी यादव ने अपने नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया से बगावत कर भारतीय जनता पार्टी जॉइन कर ली थी। अब जो मामला दर्ज हुआ है उसमें अधिकतम 7 साल जेल की सजा है। सुनवाई विशेष न्यायालय भोपाल में होगी। यदि कोर्ट सांसद को 7 साल की सजा सुना देती है तो कृष्ण पाल सिंह यादव का निर्वाचन शून्य माना जाएगा और फिर वह कभी चुनाव नहीं लड़ पाएंगे।