Loading...

भोपाल में खाली प्लॉट पर कचरा मिला तो गुपचुप फाइन लगेगा, पता भी नहीं चलेगा | BHOPAL NEWS

भाेपाल। नगर निगम भोपाल में स्वच्छता अभियान के तहत एक नई कार्यवाही शुरू कर दी है। नगर निगम की टीम शहर भर में खाली प्लॉट तलाश रही है। ऐसे प्लॉट पर यदि कचरा मिला तो उस पर फाइन लगाया जा रहा है। आपत्तिजनक किया है कि इसकी जानकारी प्लॉट मालिक को नहीं दी जा रही है। फाइन की रकम उसके संपत्ति कर में जोड़ी जा रही है।

स्वास्थ्य मंत्री के सर्वे में सामने आया था मामला

राजधानी भोपाल में डेंगू का संक्रमण फैलने के बाद स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने 15 अक्टूबर काे शहर के उन इलाकाें का जायजा लिया था, जहां डेंगू के मरीज सामने आए थे। इस दाैरान यह हकीकत सामने आई कि खाली प्लाॅट पर गंदगी के साथ ही पानी भी भरा है। इनसे मच्छर पनप रहे हैं जाे डेंगू फैला रहे हैं, तब मंत्री सिलावट ने ऐसे प्लाॅट चिह्नित कर स्पाॅट फाइन लगाने के निर्देश दिए थे।

1200 नाेटिस, वसूली एक से भी नहीं

मंत्री के आदेश के बाद सक्रिय हुए अमले ने पिछले 51 दिनाें में काेलार, हाेशंगाबाद राेड, पिपलानी, इंद्रपुरी, अयाेध्या नगर, कराेंद और लालघाटी समेत शहर के तमाम इलाकाें में करीब 1200 खाली प्लाॅट चिह्नित किए जिन पर गंदगी और पानी जमा हाे रहा है। अमले ने इन प्लाॅट के मालिकाें के नाम नाेटिस बनाकर प्लॉट पर ही चस्पा कर दिए। नतीजा ना तो फाइन की रकम जमा हो पाई और ना ही सफाई।

नगर निगम सफाई करवाएगा खर्चा संपत्ति कर में जोड़ दिया जाएगा

प्लॉट की सफाई में होने वाला खर्च और स्पॉट फाइन की राशि प्रॉपर्टी टैक्स में जोड़ेंगे। नगर निगम के अपर आयुक्त राजेश राठौड़ ने बताया कि जिन प्लाॅट पर गंदगी और पानी जमा हाेता है उन्हें नाेटिस दिए गए हैं लेकिन, प्लाॅट मालिक नहीं मिलने से स्पाॅट फाइन वसूल नहीं हाे पा रहा था, इसे देखते हुए प्लाॅट की सफाई में हाेने वाला खर्च और स्पाॅट फाइन की राशि प्लाॅट के संपत्तिकर खाते में जाेड़ी जा रही है।