Loading...

मध्यप्रदेश के बुरहानपुर में 13 साल से रह रहा था आतंकवादी, ATS ने पकड़ा

भोपाल। मध्य प्रदेश पुलिस और मध्य प्रदेश सरकार की खुफिया नेटवर्क के माथे पर कलंक लगाने वाली खबर आ रही है। मध्यप्रदेश के बुरहानपुर शहर में एक आतंकवादी पिछले 13 साल से रह रहा था। वहां कारोबार कर रहा था। उसने यहां प्रॉपर्टी खरीद ली थी। ना तो सरकारी खुफिया नेटवर्क को कुछ पता चला और ना ही पुलिस को। एक पुख्ता सूचना के बाद ATS ने उसे गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के लिए खंडवा से अधिकारी भेजे गए थे। ATS की टीम उसे इंदौर लेकर गई और वहां से ATS मुंबई को सपोर्ट कर दिया। पकड़े गए आतंकवादी का नाम एजाज अकरम शेख बताया जा रहा है। यह आतंकवादी प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिदीन के सक्रिय सदस्य है एवं मुंबई सीरियल ब्लास्ट में वांटेड है।

मुंबई पुलिस के मोस्ट वांटेड, 2006 से फरार थे

प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिदीन के सक्रिय सदस्य एजाज अकरम शेख पर मुंबई धमाकों के बाद एटीएस ने विधि विरुद्ध क्रियाकलाप निवारण अधिनियम की धारा 10 और 13 के तहत मामला दर्ज किया था। तब से वह फरार था और बुरहानपुर में रह रहा था। गौरतलब है कि एटीएस ने दिल्‍ली के ओखला स्थित शाहीन बाग से इलियास अकरम को भी गिरफ्तार किया है। ये दोनों 2006 से फरार थे। एटीएस ने इलियास अकरम की 3 दिन की ट्रांजिट रिमांड शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत से हासिल किया है। 

मध्य प्रदेश पुलिस के लिए शर्मनाक 

यह मध्य प्रदेश पुलिस और खासकर बुरहानपुर पुलिस के लिए काफी शर्मनाक बात है। 13 साल से एक आतंकवादी बुरहानपुर में खुलेआम रह रहा था और खुफिया एजेंसियों को कुछ पता ही नहीं चला। पुलिस का नेटवर्क किसी काम नहीं आया। ज्ञात हो कि 11 जुलाई 2006 को मुंबई की लोकल ट्रेनों में हुए बम धमाकों में 209 लोगों की मौत हुई थी और सैकड़ों लोग घायल हुए थे।

बुरहानपुर से पकड़कर इंदौर में एटीएस मुंबई को सौंपा

गिरफ्तारी के बाद गुरुवार देर शाम एजाज अकरम शेख को सीजेएम कोर्ट में पेश किया था। जहां से उसे 16 दिसंबर तक की ट्रांजिट रिमांड पर सौंप दिया गया है। खंडवा एटीएस उसे लेकर इंदौर पहुंची जहां मुंबई एटीएस के हवाले कर दिया गया। बुरहानपुर के जिला अभियोजन अधिकारी कैलाशनाथ गौतम ने गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि मुंबई एटीएस को 16 दिसंबर से पहले अजीज को मुंबई की कोर्ट में पेश करना होगा। इसके बाद वह उसे रिमांड पर लेकर पूछताछ कर सकेगी।

बुरहानपुर का आतंकवादी संगठनों से कनेक्शन

ज्ञात हो कि इससे पहले भी प्रतिबंधित संगठन सिमी के तार बुरहानपुर से जुड़े रहे हैं। शहर के कुछ क्षेत्रों में सिमी और आइएम के आतंकी पनाह भी पाते रहे हैं। पाला बाजार निवासी जिस एजाज अकरम शेख को एटीएस द्वारा गिरफ्तार किया गया है, उसकी माली हालत काफी मजबूत बताई जा रही है। उसकी दूध डेयरी के अलावा ई-रिक्शा की एजेंसी और खेतिहर जमीन भी है।

दिल्‍ली से गिरफ्तार किया गया इलियास 

मध्य प्रदेश पुलिस को 18 साल से सिमी के जिस सदस्य इलियास की तलाश थी, उसे दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया गया है। मध्य प्रदेश एटीएस व दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने उसे दिल्ली के ओखला से गिरफ्तार किया है। इलियास की तलाश महाराष्ट्र एटीएस को भी थी, इसलिए मध्य प्रदेश पुलिस ने पहले उसे महाराष्ट्र पुलिस को सौंप दिया है और बाद में ट्रांजिट रिमांड पर मध्य प्रदेश लाकर पूछताछ की जाएगी। इलियास की बुरहानपुर में 2001 से जुड़े मामले में मध्य प्रदेश पुलिस को तलाश थी।