Loading...

भ्रष्टाचार के मामलों की जांच कर रहे सीएमओ की मौत, 1 दिन पहले माफिया का फोन आया था | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले में विजयपुर नगर परिषद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी संतोष शर्मा की संदिग्ध मौत हो गई। सीएमओ संतोष शर्मा भ्रष्टाचार के कई मामलों की जांच कर रहे थे। बताया जा रहा है कि राजनीति में दखल रखने वाले कुछ माफिया उन्हें धमकियां दे रहे थे। 2 दिन पहले एक माफिया ने उनसे फोन पर बात की थी उसके बाद से ही वह तनाव में थे। 

विजयपुर नगर परिषद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी संतोष शर्मा यहां किराए पर रहते थे। घरेलू कामकाज के लिए उन्होंने एक सहायक नियुक्त किया था। उनके सहायक ने बताया कि रविवार की रात को रोज की तरह घर तो आई लेकिन डिनर नहीं किया। बिना खाना खाए सो गए। सोमवार सुबह जब काफी देर तक कमरे से बाहर नहीं निकले उनका सहायक चाय लेकर उनके कमरे में पहुंचा। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। दरवाजा खटखटाने पर भी जब कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो सहायक घबरा गया। दरवाजे की कुंडी तोड़ी गई। कमरे में सीएमओ शर्मा का शव पड़ा हुआ था। उनके सहायक ने बताया कि 2 दिन पहले वह किसी डॉक्टर से मिलने भी गए थे।

मौत एक रहस्य, पोस्टमार्टम रिपोर्ट और कॉल डिटेल रिपोर्ट के बाद खुलासा होगा

विजयपुर पुलिस थाना के प्रभारी सब इंस्पेक्टर श्यामवीर सिंह तोमर ने बताया कि पुलिस ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस का तकनीकी जांच दल सीएमओ के कमरे से सबूत जुटाने की कोशिश कर रहा है। उनके मोबाइल फोन की डिटेल जांच प्रक्रिया में शामिल की जाएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। फिलहाल मृत्यु का कारण पता नहीं चल पाया है।