Loading...

कर्मचारी अपना UAN खुद जनरेट कर सकते हैं, EPFO की बड़ी खबर

नई दिल्ली। अब संगठित क्षेत्र के कर्मचारी भी ईपीएफओ पोर्टल पर जाकर खुद अपना यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) जनरेट कर सकते हैं। सेवानिवृत्ति कोष संभालने वाली संस्था ईपीएफओ ने शुक्रवार को यह सुविधा पेश की। इस प्रकार कर्मचारियों को यूएएन के लिए अपने नियोक्ता यानी कंपनी पर निर्भर नहीं रहना होगा।

अभी कंपनियां करती हैं यूएएन को जेनरेट

वर्तमान व्यवस्था में कर्मचारी को अपने नियोक्ता के माध्यम से यूएएन के लिए आवेदन करना होता है, जिससे उन्हें नौकरी बदलते समय पीएफ हस्तांतरण का दावा करने के झंझट से बच जाते हैं। कर्मचारी का यूएएन जीवनभर समान बना रहता है।

अब कोई कर्मचारी सीधे ईपीएफओ की वेबसाइट पर जाकर यूएएन हासिल कर सकता है, जिससे पीएफ, पेंशन और जीवन बीमा लाभों के लिए उसका पंजीकरण हो जाता है। साथ ही कर्मचारी को यूएएन के लिए अपने नियोक्ता पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।

डिजीलॉकर पर कर सकेंगे पीपीओ डाउनलोड

इसके अलावा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अपने 65 लाख पेंशनर्स के लिए डिजीलॉकर पर पेंशन भुगतान आदेश (पीपीओ) जैसे पेंशन संबंधित दस्तावेज डाउनलोड करने की सुविधा भी पेश की। ईपीएफओ ने इलेक्ट्रॉनिक पीपीओ की डिपॉजिटरी तैयार करने के लिए नेशनल ई-गवर्नैंस डिविजन (एनईजीडी) के डिजीलॉकर का एकीकरण कर दिया, जिसका फायदा पेंशनर्स उठा सकेंगे। 

यह ईपीएफओ द्वारा कागजरहित व्यवस्था की तरफ बढ़ाया गया एक कदम है। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने 67वें स्थापना दिवस समारोह के दौरान इन दो सुविधाओं को पेश किया।