Loading...

SATNA में सांसद गणेश सिंह और पूर्व विधायक यादवेंद्र सिंह के बीच तनातनी तेज

भोपाल। सतना में भारतीय जनता पार्टी के सांसद गणेश सिंह और कांग्रेस नेता यादवेंद्र सिंह के बीच सीधी लड़ाई शुरू हो गई है। सांसद गणेश सिंह ने कांग्रेस नेता यादवेंद्र सिंह भूमाफिया बताया है जबकि यादवेंद्र सिंह का कहना है कि सांसद गणेश सिंह राशन माफिया को बचाना चाहते हैं इसलिए उनके खिलाफ झूठी शिकायतें कर रहे हैं।

सांसद गणेश सिंह ने CCF को पत्र लिखा

सतना भाजपा सांसद गणेश सिंह ने कांग्रेस के पूर्व विधायक यादवेंद्र सिंह पर परसमनिया के भुमरा गांव में वन और राजस्व भूमि पर कब्जा करने का आरोप लगाया है। उन्होंने व​नविभाग के सीसीएफ को पत्र लिखकर न्यायिक जांच और जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग की है। ये पत्र नौ नवम्बर को लिखा गया। CCF को लिखे पत्र में सांसद ने गोवराव निवासी रावेंद्र सिंह की शिकायत का जिक्र किया है। ये वही रावेंद्र सिंह हैं जो आदिवासी बाहुल्य परस्मानिया पठार में आधा दर्जन उचित मूल्य की राशन दुकानों का संचालन करते हैं।

कांग्रेस कमेटी साथ

कांग्रेस के पूर्व विधायक यादवेन्द्र सिंह ने 23 अक्टूबर को आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री लखन घनघोरिया की मौजूदगी में भरे मंच में गरीबों के राशन की कालाबाज़ारी का आरोप लगाया था और शिकायत की थी। मंत्री से हुई शिकायत पर जांच शुरू हुई और अब ये शिकायत राजनीतिक का अखाड़ा बन चुकी है। अब सांसद गणेश सिंह, यादवेंन्द्र सिंह पर आरोप लगा रहे हैं। जिला कांग्रेस कमेटी यादवेन्द्र सिंह के साथ खड़ी है और उल्टा उसने सांसद पर आरोपों की झड़ी लगा दी।

राशन माफिया से सांठगांठ का आरोप

यादवेन्द्र सिंह ने सांसद गणेश सिंह पर राशन माफिया से साठ गांठ का आरोप लगाया। उनका कहना है कि तत्कालीन PWD मंत्री नागेंद्र सिंह की शिकायत पर एक बार जांच हो चुकी है। मगर कोई अवैध कब्ज़ा नहीं मिला। अब पुनः हुई शिकायत की जांच के लिए तैयार हैं। बहरहाल इस मामले में अब सतना सांसद पत्र लिखकर सुर्खियों में हैं लेकिन मीडिया से दूरी बनाए हुए हैं।