Loading...

MPPPC पास सहायक प्राध्यापकों का अभियान, भोपाल चलो भोपाल चलो

भोपाल। मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित सहायक प्राध्यापकों की रैली लगातार भोपाल की तरफ बढ़ रही है। उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी से नाराज प्रदर्शनकारियों ने पीएससी चयनित सहायक प्राध्यापक संघ, मध्य प्रदेश के बैनर तले विरोध प्रदर्शन तेज कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने ट्विटर पर एक अभियान शुरू किया है #bhopal_chalo_bhopal_chalo 

क्यों नाराज हैं पीएससी चयनित सहायक प्राध्यापक 

मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा मध्य प्रदेश के सरकारी कॉलेजों में सहायक प्राध्यापक की रिक्त सीटों के लिए पात्रता परीक्षा का आयोजन किया गया था। इस परीक्षा में चयनित उम्मीदवार लंबे समय से अपनी नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कई बार इन लोगों को आश्वासन दिए। तारीख पर तारीख दी गई लेकिन नियुक्ति नहीं दी गई। अब वह अनिश्चितकालीन आंदोलन पर निकल पड़े हैं। रास्ते में कहीं भीख मांगते हैं तो कहीं मीडिया को अपने पैरों में पड़े छाले दिखाते हैं। कुल मिलाकर सुर्खियों में बने हुए हैं। 

क्यों शुरू किया गया भोपाल चलो भोपाल चलो अभियान 

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि एमपीपीएससी चयनित सहायक प्राध्यापकों की रैली को कमजोर करने के लिए मंत्री जीतू पटवारी ने एक गलत सूचना मीडिया में लिखी। इसमें बताया गया कि सहायक अध्यापकों की नियुक्ति आदेश कभी भी जारी हो सकते हैं। प्रदर्शनकारी अब ऐसे किसी भी बयान या सूचना पर भरोसा करने के मूड में नहीं है। उनका कहना है कि आदेश जारी होने तक आंदोलन जारी रहेगा।