Loading...

सेंट्रल जेल में मचा हड़कंप, जेल अधीक्षक ने विधवा कर्मचारी का रेप किया | JABALPUR NEWS

जबलपुर। सेंट्रल जेल में पदस्थ रहे सहायक जेल अधीक्षक प्रशांत चौहान (Assistant Jail Superintendent Prashant Chauhan) ने महिला जेल प्रहरी को प्रेमजाल में फंसाकर शादी का झांसा देते हुए बलात्कार (Rape) किया। महिला जब गर्भवती हो गई तो उसका यह कहते हुए गर्भपात करा दिया कि जल्द ही शादी कर लेगें। इसके बाद भी जब प्रशांत चौहान ने शादी नहीं की तो महिला ने सिविल लाइन थाना पहुंचकर पुलिस को घटना की जानकारी दी, जिस पर पुलिस ने प्रशांत चौहान के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है। 

इस संबंध में पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नेताजी सुभाषचंद्र बोस केन्द्रीय कारागार में वर्ष 2015 में पदस्थ प्रशांत चौहान की मुलाकात एक महिला जेल प्रहरी से हुई। इसके बाद दोनों के बीच बातचीत होती रही। यहां तक कि प्रशांत चौहान को जब भी कोई काम होता तो उसे ही बुलाते रहे. दोनों के बीच दोस्ती बढ़ती गई और प्रशांत चौहान ने महिला को अपने प्रेमजाल में फंसा लिया। 6 अगस्त 2016 को प्रशांत चौहान ने किसी काम बहाने अपने शासकीय आवास में बुलाया। जहां पर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की। महिला द्वारा मना किए जाने पर प्रशांत चौहान ने शादी करने की बात कहकर महिला जेल प्रहरी को मना लिया। इसके बाद उसके साथ शारीरिक संंबंध बना लिए।

इसके बाद से जब भी मौका मिलता प्रशांत चौहान द्वारा महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाए जाते रहे। इधर महिला जेल प्रहरी भी शादी करने के वायदे को सच मानकर प्रशांत की हर बात मानती रही। वर्ष 2019 में महिला ने अपने गर्भवती होने की जानकारी प्रशांत चौहान को दी तो उन्होने महिला को बहला फुसलाकर उसका गर्भपात करा दिया। इस बीच सिवनी जेल स्थानान्तरण होने के कारण प्रशांत चला गया। लेकिन महिला उसके संपर्क में रही। 11 नवम्बर को महिला सिवनी प्रशांत चौहान के आवास पहुंची तो वहां पर भी प्रशांत ने महिला के साथ रेप किया। इस बीच उसने एक सप्ताह बाद शादी करने की बात कही, जब प्रशांत चौहान से महिला ने शादी करने के लिए कहा तो उसने इंकार कर दिया। 

सहायक जेल अधीक्षक प्रशांत चौहान द्वारा शादी का झांसा देकर रेप किए जाने से व्यथित महिला ने सिविल लाइन थाना पहुंचकर पुलिस को घटना की जानकारी दी, जिस पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। इस हाईप्रोफाइल मामले के सामने आने के बाद जेल अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों में हड़कम्प मचा हुआ है।जबलपुर सेन्ट्रल जेल में इस घटना को लेकर तरह तरह की चर्चाएं व्याप्त है। हालांकि जेल अधिकारी इस मामले में चुप्पी साधे हुए है।

पुलिस को पीडि़ता महिला जेल प्रहरी ने बताया कि सहायक जेल अधीक्षक प्रशांत चौहान पहले से शादीशुदा है, लेकिन उसने यह बात नहीं बताई, यहां तक कि किसी और युवती से भी प्रशांत चौहान के संबंध रहे। इसके बाद भी वह शादी का झांसा देकर पीडि़ता के साथ शारीरिक संबंध बनाता रहा।

पीडि़ता ने बताया कि वह तलाकशुदा है, जिसके चलते वह अपना जीवन अकेले ही गुजर बसर कर रही है। इस बात की जानकारी प्रशांत चौहान को लगी तभी से वह महिला से संपर्क बनाता रहा। इस बीच शादी करने की बात कहकर शारीरिक संबंध बनाए।

पुलिस अधिकारियों की माने तो जबलपुर से स्थानान्तरित होने के बाद प्रशांत चौहान सिवनी जेल पहुंच गए, इसके बाद भी महिला के संपर्क में रहे। 11 नवम्बर को प्रशांत के कहने पर महिला जेल प्रहरी सिवनी पहुंच गई, जहां पर शासकीय आवास में प्रशांत चौहान ने उसके साथ रेप किया। फिर महिला को छिंदवाड़ा छोड़कर प्रशांत चौहान सिवनी आ गया।