Loading...

JABALPUR NEWS: गर्लफ्रेंड को इंप्रेस करने के लिए बॉस की कार लेकर भागा युवक गिरफ्तार


जबलपुर। छत्तीसगढ़ की भिलाई पुलिस ने जबलपुर में एक लड़की के घर से एक युवक को गिरफ्तार किया है। यह युवक होशंगाबाद का रहने वाला है और भिलाई में नौकरी करता था। अपनी गर्लफ्रेंड इंप्रेस करने के लिए अपने नियोक्ता की लग्जरी कार लेकर भाग गया था। जिस गर्लफ्रेंड के लिए युवक कार लेकर फरार हुआ उसी गर्लफ्रेंड के माध्यम से उसे गिरफ्तार किया जा सका। मजेदार बात यह है कि वह अपने बॉस की लग्जरी कार में गर्लफ्रेंड को घुमा भी नहीं पाया क्योंकि उसकी कार भोपाल की ट्रैफिक चेकिंग के दौरान पकड़ी गई थी।

होशंगाबाद का रहने वाला है युवक, भिलाई में नौकरी करता था

अमानत में खयानत का यह मामला 20 नवंबर का है। आरोपित का नाम रमेश वर्मा (Ramesh Verma) (27) बताया गया है। आरोपित मूलतः ग्वालटोला होशंगाबाद मध्य प्रदेश का रहने वाला है। भिलाई में रहकर वह शांति नगर भिलाई निवासी प्रतीक जैन के यहां ड्राइवर (Prateek Jain's driver) था। पुलिस के मुताबिक प्रतीक जैन ने हाल ही में टाटा हेरियस कार (Tata heirous car) (सीजी 04 एमव्ही 0554 ) लिया था। 20 नवंबर को उन्होंने रमेश को कार से सूर्या मॉल छोड़ने को कहा। वापस आने तक इंतजार करने को कहा। प्रतीक के वापस लौटने के पहले ही रमेश कार लेकर वहां से फुर्र हो गया। प्रतीक ने उसके मोबाइल नंबर पर लगातार फोन किया, लेकिन फोन स्वीच ऑफ आता रहा। देर शाम जब रमेश नहीं लौटा तब प्रतीक जैन ने स्मृति नगर चौकी में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने रमेश के खिलाफ धारा 408 के तहत मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी।

जबलपुर में गर्लफ्रेंड के घर से गिरफ्तार किया गया

पुलिस ने आरोपित के बंद मोबाइल के कॉल डिटेल खंगाले। पुलिस की नजर एक नंबर पर रुकी। उस नंबर पर रमेश रोजाना एक-एक घंटे तक बात करता था। पुलिस ने उस नंबर को ट्रेस किया, तब रमेश का नया नंबर मिला। रमेश के नए नंबर का टॉवर लोकेशन जबलपुर का मिला। पुलिस ने हेड कांस्टेबल राजेश साहू व कांस्टेबल आत्मानंद कोसरे को आरोपित को गिरफ्तार करने जबलपुर भेजा। आरोपित को उसकी गर्लफ्रेंड के घर से गिरफ्तार कर लिया गया।

भोपाल में कार छोड़कर जबलपुर चला गया था

भिलाई से कार लेकर रमेश सीधे भोपाल चला गया। वहां ट्रैफिक चेकिंग में पकड़ा गया। गाड़ी के कागजात नहीं होने पर एक हजार फाइन लगा तो वह कार वहीं छोड़कर जबलपुर चला गया। पकड़े जाने पर रमेश के बयान के आधार पर पुलिस ने भोपाल ट्रैफिक पुलिस को पूरी जानकारी देकर 15 लाख कीमत की कार वापस मंगवाया। रमेश के हवाले से पुलिस ने बताया कि उसने अपनी गर्ल फ्रेंड को खुश करने के लिए 15 लाख की कार लेकर भागा था।