Loading...

चार्टेड एकाउंट श्याम लाल खण्डेलवाल सहित परिजनों के खिलाफ FIR | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। गैस सामान बनाने वाली फैक्ट्री में पार्टनर बनाने के नाम पर एक चार्टेड एकाउंट (Chartered Account) ने अपने रिश्तेदारों के साथ व्यापारी को ढाई करोड़ का चूना लगा दिया। वारदात इंदरगंज थाना क्षेत्र के दाल बाजार स्थित मैना वाली गली की है। ठगी का पता चलते ही पीडि़त व्यापारी ने पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने पीडि़त की शिकायत पर ठगी का मामला दर्ज कर लिया है।

इंदरगंज थाना क्षेत्र के दाल बाजार स्थित मैना वाली गली निवासी नेमीचंद गुप्ता पुत्र रतन लाल गुप्ता (Nemichand Gupta son Ratan Lal Gupta) कारोबारी है और उनकी गैस का सामान बेचने की हॉलसेल शॉप दाल बाजार में हैं। चार्टेड एकाउंटेंट श्याम लाल उनके परिवारिक मित्र हैं और उनका एक दूसरे के घर काफी आना जाना है। वर्ष 2013 में श्याम लाल, श्याम लाल की पत्नी रेखा, साला मुकेश, पिता हरिप्रसाद तथा हार्दिक ने उन्हें बताया कि उन्हें गैस रेग्यूलेटर तथा अन्य सामान सप्लाई का ठेका मिला है और इसमें वह भी शामिल हो जाएं तो मोटा मुनाफा हाथ लगेगा।

कई बार की बातों के बाद वह भी पार्टनर बनने को तैयार हो गया और इसके बाद श्याम लाल तथा उनके परिजनों ने बताया कि गैस समान बनाने वाली एक फैक्ट्री का सौदा कर लेते हें, इससे उनके मुनाफे में काफी फायदा मिलेगा। उनकी बातों में आकर वह भी तैयार हो गया और उसने ढाई करोड़ रुपए दे दिए। उन्होंने सौरभ चौहान से फैक्ट्री में पार्टनर बनाकर नेमीचंद गुप्ता को कंपनी का डायरेक्टर बना दिया, इसके बाद फर्जी दस्तावेज बनाकर गुपचुप तरीके से कंपनी अपने और अपनी पत्नी के साथ पिता हरिप्रसाद के नाम कर ली।

जब इसका पता उन्हें चला तो वे उनके घर पहुंचे तो उन्होंने गलती से होना बताकर जल्द ही डायरेटर उन्हें बनाकर कंपनी उनके नाम करने का आश्वासन दिया। इसके बाद वह चक्कर लगाते रहे, लेकिन ना तो कंपनी उनके नाम की और ना ही उनके पैसे लौटाए। काफी परेशान होने के बाद पीडि़त ने मामले की शिकायत पुलिस से की, जिसकी जांच के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने जांच के बाद श्याम लाल खण्डेलवाल, रेखा खण्डेलवाल, हार्दिक, सान्या, मुकेश, हरिप्रसाद, सौरभ चौहान, अलका चौहान, अनुज एवं पूनम के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।