Loading...

BSNL: मात्र 3 दिन में 40 हजार कर्मचारी नौकरी छोड़ने को तैयार

नई दिल्ली। सरकारी टेलिकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) के करीब 40,000 कर्मचारियों ने VRS के लिए आवेदन कर दिया है। BSNL को अपने कर्मचारियों की तरफ से केवल तीन दिन में इतने आवेदन आए हैं। शुक्रवार को BSNL के एक उच्च अधिकारी ने इसके बारे में जानकारी दी है। 

BSNL के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक पी के पुरवर ने बताया, 'हमने लक्ष्य रखा है ​कि कंपनी के 77,000 कर्मचारी VRS के लिए आवेदन करें।' मौजूदा समय में BSNL में 1.5 लाख से भी अधिक कर्मचारी हैं, जिसमें से करीब 1 लाख कर्मचारी VRS के लिए आवेदन योग्य हैं। केंद्र सरकार ने 5 नवंबर को इस स्कीम को शुरू किया था, जिसमें कर्मचारी अपने इच्छानुसार VRS के​ लिए आवेदन कर सकते हैं। BSNL कर्मचारी 3 दिसंबर तक VRS के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस स्कीम के तहत BSNL के पर्मानेन्ट कर्मचारी VRS के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने वाले कर्मचारियों की उम्र 50 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।

पिछले माह सरकार ने 69 हजार करोड़ देने का ऐलान किया था

बता दें कि पिछले माह ही केंद्र सरकार ने BSNL और MTNL को 69,000 करोड़ रुपये का राहत पैकेज देने का ऐलान किया था। इसमें संपत्तियों को बेचकर पूंजी जुटाने और कर्मचारियों को VRS देना भी शामिल हैं। सरकार ने कहा था कि दोनों कंपनियों का विलय भी किया जाएगा।

ऐसे कर्ज भरेगी BSNL

सरकार के इस पैकेज में 20,140 करोड़ रुपये 4G स्पेक्ट्रम खरीदने के लिए, 3,674 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम एलोकेशन पर GST शामिल होगा। सॉवरेन गारंटी से 15,000 करोड़ रुपये, 17,160 करोड़ रुपये वीआरएस कऔर रिटायरमेंट लायबिलिटी के लिए 12,768 करोड़ रुपये होंगे। सॉवरेन बॉन्ड जारी किया जाएगा ताकि कंपनी पर कर्ज को रिस्ट्रक्चर किया जाएगा और अन्य खर्चों को पूरा किया जाए. दोनो ऑपरेटर्स इस बॉन्ड को सर्विस करेंगे।