Loading...

5वीं-8वीं बोर्ड परीक्षा में फेल हो गए तो क्या होगा, राशिके ने आदेश जारी किए | EDUCATION NEWS

भोपाल। स्कूल शिक्षा विभाग इस सत्र से प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पांचवी व आठवीं कक्षा के बच्चों की बोर्ड परीक्षा लेगा। सत्र 2019-20 में कक्षा 5वीं एवं 8वीं की बोर्ड परीक्षा में अगर बच्चे फेल हो गए तो उन्हें उसी सत्र में दोबारा परीक्षा देने का मौका मिलेगा। दोबारा ली गई परीक्षा में पास होने पर उन्हें अगली कक्षा में प्रवेश दे दिया जाएगा। यदि बच्चे दूसरी बार में भी फेल हो गए तो फिर उन्हें अगले सत्र में उसी कक्षा में पढ़ना होगा। इस संबंध में राज्य शिक्षा केंद्र ने सभी जिलों के जिला परियोजना समन्वयकों और प्रधानाध्यापकों को आदेश जारी कर दिए हैं।

ऐसे समझे कैसे देनी होगी परीक्षा

मान लीजिए दोनों कक्षाओं में बच्चे पूरे विषय में भी फेल हो जाते हैं तो वे रिजल्ट आने के दो माह बाद दोबारा परीक्षा देंगे। इसके अलावा एक या दो विषय में फेल होते हैं तो भी दो माह दोबारा परीक्षा देनी होगी। इस अंतराल में बच्चों की अलग से कक्षाएं लगाई जाएंगी। अगर दूसरी बार ली गई परीक्षा में भी बच्चे फेल हो जाते हैं तो उन्हें अगली कक्षा में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

अभिभावकों लिखा पत्र, बच्चों को रोज भेजें स्कूल

राज्य शिक्षा केंद्र की संचालिका आईरीन सिंथिया जेपी ने अभिभावकों के नाम पत्र लिखकर बोर्ड परीक्षा से संबंधी जानकारी दी है। पत्र में बच्चों को रोज स्कूल भेजने के लिए अभिभावकों को प्रेरित किया गया है। ज्ञात हो कि शासन ने 2 मार्च को गजट नोटिफिकेशन जारी कर मप्र बोर्ड के 5वीं व 8वीं कक्षा में इस सत्र से बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के लिए कहा था।