Loading...

शिक्षकों की ट्रांसफर लिस्ट जल्द ही जारी होगी: मंत्री ओमकार मरकाम | TWTA NEWS

मंडला। ट्रायबल वेलफेयर टीचर्स एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने प्रांताध्यक्ष डी के सिंगौर की अगुवाई में एसोसिएशन के संरक्षक मंत्री ओमकार सिंह मरकाम के गृह निवास में जाकर सोमवार को मुलाकात की। प्रांतीय प्रवक्ता संजीव सोनी ने विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि मंत्री जी से मुलाकात दौरान जबलपुर संभाग के शिक्षकों के स्थानांतरण आदेश जारी करने के संबंध में विस्तृत चर्चा हुई। 

मंत्री जी ने कहा कि "अपने संभाग की स्थानांतरण सूची को लेकर मैं खुद चिंतित हूं,"  उन्होंने प्रतिनिधि मंडल को बताया कि संभाग की स्थानांतरण सूची में डिंडौरी जिले से बाहर जाने वाले 40% शिक्षकों का नाम है जबकि सिर्फ 5% पांच प्रतिशत शिक्षक ही डिंडौरी जिले में आ रहें हैं। इसके पहले भी लगभग 150 शिक्षकों का संभाग से बाहर स्थानांतरण हो चुका है। वैसे ही जिले में लगभग 1200 शिक्षकों की कमी है, ऐसे में फिर से स्थानांतरण से 314 शिक्षकों के जाने और 32 शिक्षकों के आने से डिंडौरी जिले की शिक्षा व्यवस्था चरमरा जाएगी। मंत्री जी की इस बात पर सहमति जताते हुए एसोसिएशन के सदस्यों ने मंत्री जी के समक्ष शिक्षकों की कमी की पूर्ति के अनेक विकल्प रखे, जिन पर लगभग एक घंटे तक विचार मंथन चलते रहा। 

चर्चा के दौरान स्थानांतरण  पीड़ित शिक्षकों ने भी अपनी पीड़ा मंत्री जी के सामने व्यक्त की। मंत्री जी ने टुकड़े टुकड़े में स्थानांतरण सूची जारी करने का विचार रखा जिस पर एसोसिएशन के सदस्यों ने असहमति जताते हुए सभी का एक साथ स्थानांतरण करने का निवेदन किया।  काफी देर तक मंत्रणा के बाद मंत्री जी ने एसोसिएशन के सुझाव से सहमति जताते हुए शीघ्र स्थानांतरण सूची जारी करने का आश्वासन दिया। बीच में एसोसिएशन ने अतिथि शिक्षकों के नियमितीकरण के संबंध में भी चर्चा की। इस पर  मंत्री जी ने गंभीर मुद्दा में कहा कि "मैंने अतिथि शिक्षकों के मामले में प्रशासन को कुछ सुझाव दिया था जिससे अधिक से अधिक अतिथि शिक्षकों के नियमितीकरण का रास्ता साफ हो सकता था।" आगे भी वे इसके लिए प्रयास करते रहेंगे।

एसोसिएशन ने विद्यालयों में भृत्यों की कमी से मंत्री जी को अवगत कराया और बताया कि पुराने भृत्यों के रिटायर होने और नयी भर्ती ना होने से विद्यालयों में भृत्यों की कमी से विद्यालय के विधिवत संचालन एवं साफ-सफाई में काफी दिक्कतें आती है। एसोसिएशन ने अनावश्यक बंद की गई अंशकालीन भृत्यों की भर्ती को पुनः चालू करने का निवेदन किया ताकि बेरोजगारों को रोजगार मिलने के साथ ही विभाग के विद्यालयों का विधिवत संचालन  सुनिश्चित हो सके, जिस पर मंत्री जी ने शीघ्र कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। 

साथ ही एसोसिएशन ने मांग रखी कि शिक्षकों को प्रतिमाह वेतन भुगतान में देरी होने के कारणों को देखते हुए संकुल प्राचार्यों को  आहरण संवितरण का अधिकार दिया जाए। मंत्री जी से सफल वार्ता से हर्षित एसोसिएशन ने स्थानांतरण आदेश की सूची जारी होने के बाद मंत्री जी का सम्मान समारोह आयोजित करने का फैसला लिया। इस पूरी चर्चा के दौरान प्रांताध्यक्ष डी के सिंगौर, शिवशंकर पांडे, संजीव सोनी, आशीष तिवारी, जीवन मरावी, बी एल यादव, राम कुमार गर्ग, कमलेश गुप्ता आदि शामिल रहे।