Loading...

STARTUP IDEA: मात्र 4 लाख का निवेश, 8 लाख मुनाफा

STARTUP IDEA या BUSINESS IDEA या फिर business plan कुछ भी कहिए बात एक ही है। कई लोग पूछते हैं how to start a business. तो आज हम आपको एक ऐसा बिजनेस प्लान बताने जा रहे हैं जो आपके स्टार्टअप को हर हाल में सफलता तक ले जाएगा। इसमें प्रतिस्पर्धा कम है ज​बकि मांग अत्याधिक है। थोड़ी सतर्कता की जरूरत है परंतु सफलता की गारंटी है। लागत करीब 4 लाख रुपए और मुनाफा प्रतिवर्ष करीब 8 लाख रुपए। 

बिजनेस प्लान क्या है | rabbit farming

आपको खरगोश पालन शुरू करना है। खरगोश पालन के इस बिजनेस को यूनिट में बांटा गया है। एक यूनिट में सात मादा और तीन नर खरगोश होते हैं। मान लें फार्मिंग के लिए शुरुआती स्तर 10 यूनिट का रखा है तो इसके लिए लगभग 4 लाख से 4.50 लाख रुपये खर्च आता है। इसमें टिन शेड लगभग 1 से 1.50 लाख रुपये, पिंजड़े 1 से 1.25 लाख रुपये, चारा और इन यूनिट्स पर लगभग 2 लाख रुपये खर्च शामिल हैं।

नर और मादा खरगोश लगभग 6 महीने के बाद ब्रीडिंग के लिए तैयार होते हैं। एक मादा खरगोश एक बार में 6 से 7 बच्चों को जन्म देती है। मादा खरगोश का प्रेगनेंसी पीरियड 30 दिन का होता है और इसके अगले 45 दिनों में बच्चा लगभग 2 किलोग्राम का होने के बाद बिकने के लिए तैयार हो जाता है।

खरगोश पालन (rabbit farming) में कमाई कैसे होगी

एक मादा खरगोश से औसतन 5 बच्चे हुए तो इस तरह 45 दिनों में 350 बच्चे बनेंगे। खरगोश की यूनिट बच्चे पैदा लायक होती है। इनमें 6 महीने का इंतजार की भी जरूरत नहीं होती। 10 यूनिट खरगोश से 45 दिनों में तैयार हुआ बच्चों का बैच लगभग 2 लाख रुपये में बिकता है। इन्हें फार्म ब्रीडिंग, मीट और ऊन व्यवसाय के लिए बेचा जाता है और एक मादा खरगोश सालभर में कम से कम 7 बार बच्चे देती है लेकिन मोर्टेलिटी, बीमारी आदि सभी को ध्यान में रखकर औसतन 5 प्रेगनेंसी पीरियड मानकर चलें तो सालभर में 10 लाख रुपये के खरगोश बिक जाते हैं जबकि चारे पर खर्च 2 से 3 लाख रुपये मान लें तो 7 लाख रुपये नेट प्रॉफिट कमाया जा सकता है। हालांकि शुरू के साल में कुल 4.50 लाख रुपये की इन्वेस्टमेंट को इसमें निकालकर चलें तब भी 3 लाख रुपये की आमदनी होती है।

rabbit farming फ्रेंचाइजी लेकर भी शुरू कर सकते हैं 

अगर ज्यादा रिस्क लेने की क्षमता ना हो तो कई बड़े फार्म से फ्रेंचाइजी लेने का विकल्प नए लोगों के पास है। इसके माध्यम से खरगोश ब्रीडिंग से लेकर मार्केटिंग तक सभी तरह की ट्रेनिंग दी जाएगी।