Loading...

हड़ताली पटवारियों ने शर्त बदली, राजस्व मंत्री की बैठक बिफल | PATWARI HADTAL LATEST

भोपाल। मध्य प्रदेश में पटवारी संघ की हड़ताल फिलहाल खत्म होती नहीं दिख रही है। शनिवार को सीएम कमलनाथ से मुलाकात के बाद राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के साथ हुई पटवारी संघ की बैठक बेनतीजा रही। बैठक में बात न बनने से पटवारी संघ ने हड़ताल जारी रखने का फैसला किया है। पटवारी संघ अब मंत्री जीतू पटवारी और दिग्विजय सिंह से माफी के साथ-साथ ग्रेड-पे (Grade-pay) बढ़ाए जाने की भी मांग कर रहा है। 

कांग्रेस ने वचनपत्र में पटवारियों का ग्रेड-पे बढ़ाने की बात की थी

पटवारी संघ का कहना है कि कांग्रेस ने अपने वचनपत्र में पटवारियों का ग्रेड-पे बढ़ाने की बात की थी, लेकिन अब तक ऐसा नहीं हुआ है. राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने पटवारियों को 6 महीने में इस मांग को पूरा करने का भरोसा दिया है. लेकिन पटवारी संघ एक निश्चित तारीख बताने पर अड़ा है. यही वजह है कि बैठक के दौरान दोनों पक्षों में कोई सहमति नहीं बन सकी. पटवारियों की हड़ताल से सूबे में किसानों के सर्वे पर असर पड़ रहा है. आपको बता दें कि तीन दिन पहले पटवारियों ने उस वक्त हड़ताल का एलान कर दिया था, जब मंत्री जीतू पटवारी के बाद दिग्विजय सिंह ने पटवारियों को भ्रष्ट करार दे दिया था. हालांकि दोनों ही नेता सफाई दे चुके हैं कि उन्होंने भ्रष्ट होने की बात सभी पटवारियों के लिए नहीं कही थी.

सीएम ने मंत्री से बातचीत की दी थी सलाह

पटवारी संघ के प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार दोपहर कैबिनेट बैठक के बाद सीएम कमलनाथ से मुलाकात की थी. पटवारी संघ ने सीएम के सामने अपनी मांगें रखी. बाद में सीएम ने उन्हें राजस्व मंत्री से बातचीत के लिए कहा. इस पर पटवारी संघ का प्रतिनिधिमंडल राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के बंगले पहुंचा और वहां दोनों पक्षों के बीच बैठक हुई. बैठक में पटवारी संघ ने माफी के साथ ग्रेड-पे बढ़ाने का भी मुद्दा उठा दिया. जिस पर मंत्री ने भरोसा दिया कि इस पर सरकार 6 महीने के भीतर कोई न कोई फैसला ले लेगी, लेकिन पटवारी संघ निश्चित तारीख बताने पर अड़ा रहा.

हड़ताल से किसान परेशान

मध्य प्रदेश में पटवारियों की हड़ताल ऐसे वक्त में हो रही है जब किसानों की खराब फसलें और बाढ़ आपदा से राजस्व को हुए नुकसान का आकलन किया जाना है. हड़ताल की वजह से नुकसान के सर्वे का काम ठप हो गया है. अगर पटवारी काम पर नहीं लौटते तो सर्वे के काम पर काफी असर पड़ेगा और किसानों को वक्त पर मुआवजा नहीं मिल पाएगा. इधर, बैठक के बाद राजस्व मंत्री ने कहा कि राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने न्यूज़ 18 से बातचीत में बताया कि सरकार ने पटवारी संघ की मांगों पर विचार करने का भरोसा दिया है. हमने अपने वचन पत्र में जो बाते कही हैं, सरकार उसे पूरा करने के लिए वचनबद्ध है. जहां तक बात माफी मांगने की है, तो जीतू पटवारी और दिग्विजय सिंह ने सभी पटवारियों के बारे में भ्रष्ट नहीं कहा था. वहीं, पटवारी संघ के अध्यक्ष उपेंद्र सिंह बघेल ने कहा कि अभी हमने सरकार के सामने अपनी मांग रखी हैं. सरकार भरोसा तो दे रही है, लेकिन तारीख नहीं बता रही. हम सरकार के पक्ष को अपने संघ के सामने रखेंगे उसके बाद ही हड़ताल खत्म करने पर फैसला होगा.