Loading...

कांतिलाल भूरिया को सन्यास ले लेना चाहिए: ये क्या बोल गए दिग्विजय सिंह | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में कांग्रेस के सबसे प्रभावी नेता एवं कमलनाथ सरकार के सर संघ चालक दिग्विजय सिंह ने बड़ा बयान दिया है। झाबुआ में उपचुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया के बारे में श्री सिंह ने कहा कि उन्हे मेरे साथ सन्यास ले लेना चाहिए। प्रश्न यह है कि मतदान से पहले इस तरह का बयान क्या भाजपा के लिए फायदेमंद नहीं होगा। 

अलीराजपुर में दिग्विजय सिंह ने कहा: सन्यास का वक्त आ गया है

बता दें कि मप्र में विधानसभा चुनाव 2003 हारने के बाद दिग्विजय सिंह ने चुनावी राजनीति से 15 साल का उपवास ले लिया था और भोपाल लोकसभा चुनाव 2019 हारने के बाद कहा जाता है कि दिग्विजय सिंह ने चुनावी राजनीति से सन्यास का मन बना लिया है। मध्यप्रदेश के अलीराजपुर जिले में दिग्विजय सिंह ने कहा कि अब उनकी राजनीति से संन्यास लेने का वक्त आ गया है। दिग्विजय सिंह ने कहा, 'मैंने और कांतिलाल भूरिया दोनों ने लंबे समय तक राजनीति की है। हम अब उम्र के उस पड़ाव पर पहुंच गए हैं जहां हमें संन्यास ले लेना चाहिए। कांतिलाल भूरिया अपना आखिरी चुनाव लड़ रहे हैं।'

कांतिलाल भूरिया मंत्री बनने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं

बता दें कि 21 अक्टूबर को झाबुआ विधानसभा सीट पर उपचुनाव होने हैं इस सीट से आदिवासी नेता और पांच बार के सांसद कांतिलाल भूरिया कांग्रेस के प्रत्याशी हैं। वे यूपीए सरकार के दौरान केंद्रीय मंत्री भी रहे। कहा जा रहा है कि मप्र सरकार में कैबिनेट मंत्री बनने के लिए कांतिलाल भूरिया यह उपचुनाव लड़ रहे हैं। 

दिग्विजय सिंह अब कभी चुनाव नहीं लड़ेंगे

इस दौरान दिग्विजय के बेटे जयवर्धनसिंह, विक्रांत भूरिया भी मौजूद थे। उन्होंने कहा, 'मैंने और कांतिलाल भूरिया दोनों ने बहुत राजनीति की है और अब हम उम्र के ऐसे पड़ाव पर आ चुके हैं जहां हमें संन्यास ले लेना चाहिए।' उन्होंने कहा 'हम अब नए लड़कों को तैयार कर रहे हैं, जो हमारे अधीन काम कर रहे हैं। मैंने अपना अंतिम चुनाव लड़ लिया है और अब कांतिलाल भूरिया भी अपना अंतिम चुनाव लड़ रहे हैं।