Loading...

छिंदवाड़ा से शुरू होगी लघुवेतन कर्मचारी संघ की 'मन्नत यात्रा' | ;LAGHU VATAN KARMACHARI SANGH

भोपाल। म.प्र. लघुवेतन कर्मचारी संघ के प्रांतीय आव्हान पर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के द्वारा अपनी लम्बित मांगों के समर्थन में चरणबद्ध आंदोलन 15 अक्टूबर 2019 से किया गया है। जिसके तारतम्य में 02 नवम्बर 2019 को जिला स्तर पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर माननीय मुख्यमंत्री महोदय म.प्र.शासन के नाम से जिले के कलेक्टर महोदय को ज्ञापन दिया जावेगा। 15 नवम्बर को जिला मुख्यालय से मन्नत यात्रा निकाली जावेगी एवं मार्ग में स्थित समस्त देवालयों में भगवानों को ज्ञापन दिया जावेगा। 

इसके पश्चात् माननीय मुख्यमंत्रीजी, मुख्य सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग मंत्री, वित्त मंत्री एवं मा.प्रमुख सचिव सामान्य प्रशासन विभाग के नाम ज्ञापन स्पीड़ पोस्ट से भेजे जावेंगे। 23 नवम्बर को भोपाल में समस्त चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, आकस्मिक कार्यभारित सेवा के कर्मचारी-स्थाईकर्मी, अंशकालीन भृत्य, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका, मिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, ग्राम रक्षक, कोटवार, मध्यान्ह भोजन रसोईया, अध्यक्ष एवं सचिव तथा आशा कार्यकर्ता, ऊषा कार्यकर्ता एवं संविदा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी एवं अन्य चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी अपनी मांगों के समर्थन में भोपाल में आमसभा कर माननीय मुख्यमंत्रीजी के नाम ज्ञापन सौंपेंगे। 13 दिसम्बर को जिले के प्रभारी मंत्री, जिले के सांसद महोदय,क्षेत्रीय विधायकों को प्रतिनिधि मण्डल के साथ उपस्थित होकर ज्ञापन दिया जावेगा।

इसके बाद भी अगर मांगों पर शासन द्वारा विचार नहीं किये जाने की स्थिति में 17 फरवरी 2020 को एक दिवसीय प्रदेशव्यापी जंगी प्रदर्शन एवं आन्दोलन सामूहिक अवकाश लेकर किया जायेगा। इसके बाद भी शासन -प्रशासन हमारी मांगों पर विचार नहीं करता है तो माह अप्रैल में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जायेंगे। तहसील शाखा पांढुरना के तहसील अध्यक्ष अनन्ता तायवाडे़ ने इस आशय की प्रेस विज्ञप्ति जारी कर समस्त चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, आकस्मिक कार्यभारित सेवा के कर्मचारी-स्थाईकर्मी, अंशकालीन भृत्य, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका, मिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, ग्राम रक्षक, कोटवार, मध्यान्ह भोजन रसोईया, अध्यक्ष एवं सचिव तथा आशा कार्यकर्ता, ऊषा कार्यकर्ता एवं संविदा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी एवं अन्य चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों से उक्त चरणबद्ध आंदोलनों में अपनी लम्बित मांगों के समर्थन में अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर आंदोलन को सफल बनाने का आव्हान किया है।