Loading...

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कर्जमाफी पर कमलनाथ को घेरा | JYOTIRADITYA vs KAMAL NATH

भोपाल। सीएम कमलनाथ का चौतरफा विरोध नजर आने लगा है। भाजपा को छोड़कर कई तरह के गैरराजनैतिक संगठन यहां तक कि कांग्रेस के प्रभावशाली नेता भी कमलनाथ पर वादाखिलाफी का आरोप लगाने लगे हैं। बड़ी खबर यह है कि मध्यप्रदेश में चुनाव के दौरान प्रचार में बराबर के साझेदार रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी कमलनाथ को कर्जमाफी के मुद्दे पर घेर लिया है। 

कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कमलनाथ सरकार पर वादा न करने का आरोप लगाया है। भिंड में एक रैली के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि अभी सभी किसानों की कर्ज माफी नहीं की गई है। सिर्फ 50 हजार रुपये का कर्ज माफ किया गया, जबकि हमने 2 लाख रुपये तक का कर्ज माफ करने का वादा किया था। 2 लाख रुपए तक के किसान कर्ज को माफ किया जाना चाहिए।

10 दिन में कर्जमाफी का वचन दिया था

चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस ने वचन पत्र जारी किया था। उसमें दर्ज घोषणाओं की डेडलाइन भी फिक्स की गई थी। प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने बार बार कहा था कि सरकार बनने के 10 दिन के भीतर किसानों का कर्जमाफ किया जाएगा और यदि ऐसा नहीं किया गया तो मैं मुख्यमंत्री बदल दूंगा। वचनपत्र के मामले में अब सीएम कमलनाथ कहते हैं कि 'घोषणाएं 5 साल के लिए होतीं हैं'