Loading...

दशहरे के चल समारोह में युवक को मारा चाकू, भगदड़ मची | JABALPUR NEWS

जबलपुर। जबलपुर के उपनगरीय क्षेत्र सदर में दशहरा चल समारोह (  Dussehra running function) में आज सुबह 4.30 बजे के लगभग आपसी विवाद के चलते चाकूबाजी की घटना हो गई, आदर्श पिल्ले (AADRASH PILLAI) नामक युवक चाकू लगने से सड़क पर ही गिर गया, जिसे देख भगदड़ व अफरातफरी मच गई, वहीं आदर्श को खून से लथपथ हालत में देख लोगों ने विसर्जन जुलूस रोककर हंगामा करना शुरु कर दिया।

देखते ही देखते अफरातफरी मच गई, हमले की खबर मिलते ही पुलिस अधिकारी भी पहुंच गए, जिन्होने घायल आदर्श पिल्ले को उपचार के लिए शासकीय अस्पताल पहुंचाया, यहां पर दुर्गा समितियों के सदस्यों ने हमले को लेकर आक्रोश जताया, घटना को लेकर सदर क्षेत्र में तनाव का माहौल निर्मित हो गया था। बताया जाता है कि सदर का ऐतिहासिक दशहरा चल समारोह अपनी भव्यता व गरिमा के साथ निकाला गया, जिसमें सदर में विराजमान प्रतिमाओं को जुलूस में शामिल गया, अपने निर्धारित स्थल से रात 11.30 बजे के लगभग शुरु हुआ दशहरा चल समारोह भव्यता के साथ धार्मिक धुनों के बीच आगे बढ़ रहा था, सड़क के दोनों ओर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही जो जुलूस में शामिल दुर्गा प्रतिमाओं के दर्शन कर रही थी। 

चल समारोह ही आजाद चौक झटका मार्केट गली नम्बर पांच के पास पहुंचा, जहां पर दुर्गाजी का पूजन अर्चन किया जा रहा था, सुबह 4.30 बजे के लगभग 8 से 10 युवक शोर मचाते हुए भीड़ को चीरते हुए पहुंच गए, जिन्होने विसर्जन जुलूस में शामिल आदर्श पिल्ले पर चाकू से हमला कर दिया. चाकू लगते ही आदर्श पिल्ले वहीं गिर गया, जिसे देख अफरातफरी व भगदड़ मच गई, हमला होते देख समिति के सदस्य आगबबूला हो गए, जिन्होने मौके पर हंगामा करते हुए प्रदर्शन करना शुरु कर दिया।

वहीं चाकूबाजी की खबर मिलते ही अन्य समितियों के सदस्य भी मौके पर पहुंच गए थे, उन्होने घटना के विरोध में जमकर नारेबाजी की। विसर्जन जुलूस आजाद चौक पर ही रोक दिया गया, हमले की खबर मिलते ही पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए थे, जिन्होने लोगों को शांत कराते हुए घायल आदर्श पिल्ले को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। घटना के बाद आजाद चौक गली में अफरातफरी मची रही, यहां तक कि घटना के बाद दुर्गाजी के दर्शन करने आए कई श्रद्धालु अपने अपने घरों की ओर चले गए। इधर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर हमलावरों को पकडऩे के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश देना शुरु कर दिया था।