Loading...

BHOPAL METRO के कारण ट्रैफिक जाम: प्रतिदिन 4 लाख लोग परेशान

भोपाल। सुभाष नगर से एमपी नगर तक चल रहे मेट्रो रूट के लिए चल रहा कंस्ट्रक्शन यहां से दिन भर में गुजरने वाले डेढ़ लाख वाहनों के लिए सिरदर्द बन गया है। सुभाष नगर अंडरब्रिज के नीचे चैंबर के टूटने से हालात और बिगड़ गए हैं। 18 फीट बाय 6.5 फीट के इस चैंबर का आधा हिस्सा ध्वस्त हो जाने से यहां से वाहन निकलना मुश्किल हो गए हैं। नतीजा सुभाष नगर तक ट्रैफिक जाम हो रहा है।

यदि इस चैंबर को जल्द नहीं सुधारा गया तो यह किसी बड़ी दुर्घटना की वजह बन सकता है। इस चैंबर को सुधारने के लिए गुरुवार सुबह 11 बजे से तीन दिन तक अंडरब्रिज बंद रहेगा। नगर निगम के सब इंजीनियर हबीब रहमान के अनुसार पुराने चैंबर को निकालने और उसकी सफाई करने के बाद नया चैंबर लगाया जाएगा। एक टन से अधिक वजन के इस चैंबर की फिटिंग और कांक्रीटिंग में तीन दिन तक लगेंगे। यानी अगले तीन दिन तक सुभाष नगर से एमपी नगर आने- जाने वालों को रेलवे क्राॅसिंग से गुजरना होगा। निगम बुधवार को अधिकारिक रूप से ट्रैफिक पुलिस को इसकी सूचना दे देगा।

डायवर्सन से गवर्नमेंट प्रेस के सामने बढ़ेगा जाम

यदि यह डायवर्सन प्लान लागू करके एमपी नगर से सुभाष नगर की ओर जाने वाले भारी वाहनों को गवर्नमेंट प्रेस की तरफ से जाना होगा। लेकिन इस सड़क पर एक तरफ गुमठी और फुटकर दुकानों का अतिक्रमण है। इन दुकानों के कारण पहले ही यहां जाम के हालात बनते हैं। भारी वाहनों के भी इस सड़क पर आने से यहां जाम लगना स्वाभाविक है।

दो किमी तय करने में लग रहे 30 मिनट


वल्लभ भवन, अरेरा हिल्स, एमपी नगर, सुभाष नगर और रचना नगर आने-जाने वाले तीन से चार लाख लोग रोजाना इस ट्रैफिक जाम में फंसते हैं। सुभाष नगर से एमपी नगर तक दो किमी के जिस सफर में दस मिनट का समय लगता है वह बढ़ कर आधा घंटा हो गया है। इस रूट पर होने वाले ट्रैफिक जाम से बचने के लिए भेल और एमपी नगर से सुभाष नगर के लिए लोग रचना नगर अंडरब्रिज की तरफ से आने- जाने लगे हैं, नतीजा यहां दिन के समय में भी जाम लगने लगा है।

37 फीसदी घट गई सड़क की क्षमता

मेट्रो कंस्ट्रक्शन के लिए लगाए गए बैरिकेड्स के कारण सड़क की केपिसिटी 37 फीसदी तक कम हो गई है, इस वजह से ट्रैफिक धीमी गति से चल रहा है। ट्रैफिक डायवर्जन का पालन नहीं होने का नतीजा है कि स्कूल बस और भारी वाहनों के यहां आते ही ट्रैफिक जाम के हालात बन जाते हैं।

सहयोग चाहिए

हमने अपना डायवर्सन प्लान प्रशासन को सौंप दिया था। ट्रैफिक पुलिस ने कुछ परिवर्तन बताए थे। उस हिसाब से बदलाव किए जा रहे हैं। हमें नगर निगम के प्लान की जानकारी नहीं है। यदि निगम कोई काम कर रहा है तो हम अपना डायवर्सन कुछ दिन के लिए टाल भी सकते हैं। 
- राजकपूर मंडराई, जीएम, दिलीप बिल्डकॉन

व्यवस्था बनाएंगे

मेट्रो के साथ अंडरब्रिज के नीचे का चैंबर रिपेयर होना भी जरूरी है। नगर निगम से अभी पत्र नहीं मिला है। निगम का पत्र मिलने के बाद कार्रवाई करेंगे। दोनों के बीच समन्वय करके व्यवस्था बनाएंगे।
प्रदीप सिंह चौहान, एडिशनल एसपी, ट्रैफिक