Loading...

GROVER HOSPITAL: बकाया बिल के लिए महिला के शव का बंधक बनाने का आरोप

JABALPUR। Grover Multispeciality Hospital, Jabalpur के प्रबंधन पर आरोप है कि उन्होंने एक महिला का शव बंधक बना लिया। अस्पताल का कहना था कि महिला के इलाज का 45 हजार रुपए बिल बकाया है, जब तक चुकता नहीं किया जाएगा, शव भी सुपुर्द नहीं करेंगे। इसे लेकर अस्पताल में काफी हंगामा हुआ, बाद में 6000 रुपए लेकर शव को मुक्त कर दिया गया। 

घटना के संबंध में नदीपार कटनी शिवनगर निवासी राकेश बर्मन ने बताया कि उनकी पत्नी सविता बर्मन (28) हार्ट में पानी भर जाने की समस्या से पीड़ित थी। मेडिकल कॉलेज में 6 दिन तक उपचार कराने के बाद जब राहत नहीं मिली तो एक निजी एम्बुलेंस कर्मचारी की समझाइश पर वे उसे राइट टाउन स्थित ग्रोवर हॉस्पिटल ले गए। 1 अक्टूबर से उपचार कर रहे चिकित्सक ने शुक्रवार को उसे मृत घोषित कर दिया। 

उपचार के दौरान वह अस्पताल में करीब 50 हजार रुपए जमा कर चुका था। पत्नी की मौत के बाद 45 हजार रुपए बकाया बताते हुए बिल थमा दिया गया। अस्पताल प्रबंधन को गरीबी का हवाला देकर शव की मांग की गई लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। शव को घर तक ले जाने के लिए सिर्फ 8 हजार रुपए शेष बचे थे, वह भी जमा करने तैयार हो जाने के बाद भी शव नहीं दिया जा रहा था। बाद में कुछ लोगों ने हस्तक्षेप किया तो 6 हजार जमा करवाकर शव दिया गया। अस्पताल संचालक डॉ. सौरभ ग्रोवर ने बताया कि वे शहर के बाहर हैं इसलिए घटना की जानकारी उन्हें नहीं है।