Loading...

कुशाभाऊ और राजमाता मुझे जनसंघ में लाना चाहते थे: दिग्विजय सिंह | DIGVIJAY SINGH LATEST

नई दिल्ली। कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि भाजपा के संस्थापक नेता कुशाभाऊ ठाकरे और राजमाता विजयाराजे सिंधिया चाहते थे कि मैं जनसंघ में शामिल हो जाउं, लेकिन मैने कांग्रेस को चुना। 

1970-71 में मुझे आमंत्रित किया गया था

दिग्विजय ने एक सवाल के जवाब में कहा कि 1970-71 में संघ के कुशाभाऊ ठाकरे और राजमाता विजयाराजे सिंधिया ने मुझसे जनसंघ में शामिल होने के लिए कहा था। हालांकि मैं वहां नहीं गया, क्योंकि मैं गांधी को मानता हूं और मुझे सद्‌बुद्धि आ गई। उनसे पूछा गया था कि भाजपा नेता कह रहे हैं कि 50 साल बाद यह बात क्यों याद आई है, तो उनका कहना था कि ‘मैं शुरू से इसी बात को कहता आ रहा हूं।

हत्यारा नाथूराम गोडसे देशभक्त था या नहीं

दिग्विजय ने यहां संवाददाताओं को बताया, ‘‘भाजपा नेता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर संकल्प यात्रा निकाल रहे हैं, लेकिन वे यह बताएं कि नाथूराम देशभक्त था या नहीं।'' उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा की विचारधारा गांधी के बिल्कुल विपरीत है।'' बीजेपी को बताना चाहिए कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का हत्यारा नाथूराम गोडसे देशभक्त था या नहीं।