Loading...

भोपाल में फर्जी जाति, मूल निवासी, और गुमास्ता मात्र ₹15000 में

भोपाल। मध्य प्रदेश में सरकारी सिस्टम से चलकर आप अपना जाति प्रमाण पत्र, मूल निवासी या गुमास्ता लाइसेंस बनवा पाए ना बना पाए लेकिन यदि आप भोपाल में सक्रिय एक रैकेट के संपर्क में आ गए तो यह सब कुछ आपको पलक झपकते ही मिल जाएगा। इसके एवज में आपको मात्र 10 या ₹15000 देने होंगे। क्राइम ब्रांच ने एक युवक को गिरफ्तार किया है जिसके पास से मध्यप्रदेश की तमाम सरकारी सील और दस्तावेज बरामद हुए हैं जिनके आधार पर फर्जी प्रमाण पत्र बनाया करता था।

एएसपी क्राइम ब्रांच निश्चल झारिया के अनुसार सूचना मिली थी कि सैफ खान और उसके साथियों द्वारा अशिक्षित एवं बेरोजगार लोगों से पैसे लेकर फर्जी तरीके से प्रमाण-पत्र बनाए जा रहे हैं। क्राइम ब्रांच ने एक आरक्षक को पैसे देकर लिली टॉकीज चौराहे पर सैफ खान के पास जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए भेजा था। सैफ ने बताए हुए नाम और पते के आधार पर जन्म प्रमाण पत्र बनाकर दीपावली के बाद देने की बात कही। सूचना सही पाए जाने पर क्राइम ब्रांच की टीम ने उसे हिरासत में ले लिया। 

जरूरतमंद से लेते थे 10 से 15 हजार रुपए

एएसपी के अनुसार सैफ खुद ही ग्राहकों की तलाश करता था। वह ही प्रमाण-पत्र के रेट बताता था। जिन लोगों को प्रमाण पत्र की तुरंत आवश्यकता होती थी, वह उनसे दस से पंद्रह हजार रुपए तक वसूल करता था। फर्जी दस्तावेज तैयार करने में कोलार रोड निवासी शशांक पोतदार और राहुल नगर निवासी सुनील कुमार बरखने भी शामिल हैं। शशांक की कोलार रोड इलाके में सील बनाने की दुकान है।