Loading...

कांग्रेस सरकार के मंत्री भाजपा के ऐजेंडे पर काम कर रहे हैं: सदस्यता अभियान में आरोप | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस में विधायक-मंत्रियों के बीच चल रहे आरोप-प्रत्यारोप के साथ अब संगठन की तरफ से भी आवाज सुनाई देने लगी है। कांग्रेस के सदस्यता अभियान के प्रभारी अरुणोदय चौबे के सामने तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार के मंत्री भाजपा के ऐजेंडे पर काम कर रहे हैं। मंत्रियों के स्टाफ ऑफिसर से लेकर निज सचिव और निज सहायक तक तत्कालीन भाजपा सरकार के मंत्रियों के हैं, जो उनकी समस्या सुनना तो दूर, बात तक नहीं करते। फिर सदस्यता अभियान कैसे चलाएं। 

भोपाल में 12.50 लाख नए सदस्यों का टारगेट

विधायक आरिफ मसूद का कहना है कि मैं कार्यकर्ताओं की भावनाओं से सहमत हूं। समस्या के निराकरण के लिए मुख्यमंत्री से मुलाकात कर कार्यकर्ताओं की परेशानियों को बताएंगे। वहीं, प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया ने भी इस मामले को गंभीरता के लिया है। इधर, एआईसीसी ने सदस्यता अभियान के फॉर्मेट में बदलाव कर नए फॉर्मेट से सदस्यता अभियान शुरू कर दिया है। पार्टी ने जिलों में 50 हजार सदस्यता अभियान की बुक भिजवा दी हैं। इस प्रक्रिया से कांग्रेस 12.50 लाख सदस्य बनाएगी।

पुराने फॉर्म से पार्टी के अस्तित्व को खतरा

एआईसीसी ने नए सदस्य बनाए जाने के लिए एक महीने पहले जो फॉर्मेट जारी किया था, उसके हिसाब से 2011 से 2015 की अवधि में सदस्य बनाया जाना था। यह फॉर्म भी करीब 15 लाख लोगों तक पहुंच गए थे। यानी यह सदस्य चार साल पुरानी स्थिति में होते। इसे ही पार्टी द्वारा चुनाव आयोग को दिया जाता तो दिक्कतें बढ़ सकती थी। इस विसंगति को देखते हुए पार्टी ने बिना देर किए फॉर्म के फॉर्मेट में बदलाव किया और 2011 से 2015 की जगह सदस्यता अभियान की अवधि 2018 से 2023 करवाई।

कांग्रेस प्रवक्ता का नाम भाजपा की सदस्यता लिस्ट में भी

इधर, कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी के पास भाजपा में सम्मलित होने का मैसेज आया। मैसेज में सदस्यता संख्या 4001131248 लिखा है। इस पर चतुर्वेदी सोमवार को साइबर सेल में शिकायत दर्ज कराएंगे। उनका कहना है कि मैं 8 साल से कांग्रेस का प्रवक्ता हूं। मेरे पास भाजपा में शामिल होने का मैसेज आने का मतलब है भाजपा के सदस्यता अभियान में फर्जीवाड़ा। वह भी जब पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सदस्यता अभियान के राष्ट्रीय प्रभारी हैं। उनका कहना है कि जिस तरह बीते 15 साल में उन्होंने आंकड़ों में फर्जीवाड़ा किया है, उसी तरह वे अब सदस्यता अभियान में कर रहे हैं।