Loading...

सिंधिया के सिलावट से बंद कमरे में मिले दिग्विजय सिंह, क्या डील हुई, कयास शुरू

इंदौर। ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक कांग्रेस नेता एवं स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मुलाकात की। करीब 20 मिनट तक बंद कमरे में बातचीत हुई। इस दौरान उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी भी साथ थे। बता दें कि पिछले दिनों सिंधिया गुट के 2 विधायकों ने स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के बेटे को टारगेट किया था। कहा था कि वो बिना पैसे लिए कोई काम नहीं करता। विधायकों की भी सुनवाई नहीं होती। 

कयासों का दौर शुरू

एसजीएसआईटीएस के स्वर्ण द्वार के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के बाद तीनों नेताओं व नगर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के बीच बंद कमरे में चर्चा हुई। इस दौरान कार्यकर्ताओं को बाहर भेज दिया गया। 25 सितंबर को ज्योतिरादित्य सिंधिया का इंदौर दौरा और वर्तमान विवाद के दौरान हुई इस बैठक को लेकर राजनीतिक हलकों में अलग-अलग कयास लगाए जा रहे हैं। 

बाहर निकले दिग्विजय सिंह मुस्कुराकर चल दिए

चर्चा के दौरान दिग्विजय सिंह ने दो बार किसी से फोन पर भी बात की। बाहर आने पर मीडिया ने बात करना चाही तो वे मुस्कुराकर चल दिए। उनके पीछे आए पटवारी भी बगैर जवाब दिए चले गए। आखिर में सिलावट ने अपने विभाग से जुड़े सवालों के जवाब दिए, मगर बैठक के बारे में पूछने से पहले ही उठकर जाने लगे और कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता के साथ चाय का आनंद लेने आए थे।

कम्प्यूटर बाबा और रायकवार को भी बंद कमरे में बुलाया

दिग्विजय सिंह ने रेंसीडेंसी में भी कम्प्यूटर बाबा और पीएससी सदस्य चंदशेखर रायकवार से बंद कमरे में चर्चा की। यह बातचीत दस मिनट तक हुई।