Loading...

भोपाल में 'शुद्ध के लिए युद्ध' अभियान के नाम चौथ वसूली | BHOPAL NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में सरकार द्वारा मिलावट के खिलाफ चलाए गए अभियान 'शुद्ध के लिए युद्ध' के नाम पर अब अधिकारियों द्वारा चौथ वसूली शुरू कर दी गई है। व्यापारियों को धमकाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि यदि मुंहमांगी रकम नहीं दी तो छापामार कार्रवाई होगी और सेंपल फेल हो जाएंगे। व्यापारियों ने इसकी जानकारी लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट को दी है। 

अधिकारी कार्रवाई करें, माफियागिरी ना करें

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि शहर के व्यापारियों ने शिकायत दर्ज कराई है कि उनको डराया जा रहा है, ऐसा नहीं होना चाहिए। यदि कोई अफसर अभियान की आड़ में ऐसा कर रहा है तो वो सर्तक हो जाएं। वरना उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सभी अफसरों को अंतिम बार यह हिदायत दी जा रही है कि सख्ती से मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करें, लेकिन ईमानदार व्यापारी को परेशान न करें। ऐसा माहौल न बनाएं जिससे व्यापारी व्यापार करना बंद कर दें। 

हम अमानक के खिलाफ रिपोर्ट ही दर्ज नहीं करते: कलेक्टर

शनिवार को लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट भोपाल संभाग में चल रही मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई की समीक्षा मंत्रालय में कर रहे थे। बैठक में कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने कहा कि भोपाल में सिर्फ अनसेफ आने वाले सैंपलों की जांच रिपोर्ट पर एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। अमानक आने पर रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई जा रही है।