Loading...

Anuppur में 500 अध्यापकों का वेतन अप्रैल से अक अटका, ज्ञापन दिया

अनूपपुर। मध्यप्रदेश शासकीय अध्यापक संगठन का एक प्रतिनिधिमंडल 25 सितंबर को जिला कलेक्टर से मिलकर जिले के अंतर्गत प्राथमिक शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षकों के समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में पुष्पराजगढ़ विकासखंड के लगभग 500 कर्मचारी जिनका वेतन विगत अप्रैल माह से लंबित है, उसे शीघ्र दिलाए जाने की मांग की गई। 

पुष्पराजगढ़ विकासखंड के विकास खंड शिक्षा अधिकारी के निष्क्रियता के कारण अध्यापकों का वेतन प्राप्त नहीं हो पा रहा है उसकी बात कही गई। संगठन ने यह माग की कि इसके लिए जो भी जिम्मेदार है उसकी जिम्मेदारी तय करते हुए, उस कर्मचारी ,अधिकारी को दंडित भी किया जाए। संगठन ने ज्ञापन के माध्यम से निवेदन किया कि जिले में लगभग 208 अध्यापकों के एम्पलाई कोड जारी नहीं हुए हैं, जिस कारण उनके वेतन भुगतान में समस्या आ रही है तथा समय से वेतन भुगतान नहीं हो पाता।

ज्ञापन में कहा गया नियमित शिक्षकों का वेतन भुगतान तो समय पर कर दिया जाता है किंतु अध्यापकों के वेतन भुगतान में जानबूझकर विलंब किया जाता है। मिसिंग एनपीएस को खाते में जमा करने का निवेदन भी किया गया। स्थानांतरण से आए अध्यापकों की शीघ्र पोस्टिंग करने का निवेदन किया गया।प्रतिनियुक्त पर जाने वाले अध्यापकों का एम्पलाई कोड जारी कराने की मांग की गई ।जिले के कई विद्यालयों में हड़ताल अवधि का वेतन आहरित नहीं किया गया है इसे भी जारी कराने के बाद की गई ।12 वर्ष की सेवा अवधि पूर्ण कर चुके अध्यापकों को क्रमोन्नत वेतन मान दिऐ जाने का निवेदन किया गया। 

संगठन ने अपने ज्ञापन में कहां की यदि 1 सप्ताह के अंदर समस्याओं का निराकरण नहीं होता है तो संगठन यह ज्ञापन कमिश्नर महोदय को देगा तथा आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा ,जिसकी जवाबदारी शासन की होगी। आज के इस ज्ञापन कार्यक्रम में संगठन के संभागीय अध्यक्ष श्याम नारायण पाठक, जिलाध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी, जिला संयोजक  कौशलेंद्र सिंह, सुरेंद्र मिश्रा, भगवती  प्रसाद तिवारी ,देवराम कहार, कैलाश राम भगत एवं साथी गण उपस्थित रहे।