Loading...

30/9 तक शुक्र-बुध नीच भंग राजयोग: पढ़िए आपकी राशि कितनी प्रभावित होगी | JYOTISH REMEDY

जिस राशि में ग्रह नीच का हो रहा होता है उस राशि में उच्च का होने वाला ग्रह साथ में बैठा हो या उससे दृष्टि संबंध बनाए तो नीच भंग हो जाता है। शुक्र ग्रह गोचर में कन्या राशि में और बुध ग्रह के साथ युति कर रहे हैं। यहां पर शुक्र ग्रह का नीच भंग माना अवश्य जाएगा। शुक्र और बुध की यह युति 19 से 30 सितंबर 2019 तक रहेगी।

मेष राशि से छठे भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति आपको प्रतिस्पर्धा में सफलता देने के साथ-साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएगी।
उपाय: भगवान गणपति को दूर्वा अर्पण करने के साथ-साथ सफेद या गुलाबी वस्त्र का दान करें

वृषभ राशि से पंचम भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति विद्या में आ रही रुकावट दूर करने के साथ ही धन लाभ कराएगी।
उपाय: बुधवार के दिन दुर्गा चालीसा का पाठ करें और देवी लक्ष्मी के श्रीं मंत्र का जाप करें

मिथुन राशि से चतुर्थ भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति माता के स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव के साथ साथ जमीन जायदाद की समस्या खत्म करेगी
उपाय: सुबह के समय दुर्गा कवच का पाठ करें और छोटी कन्याओं को लेखन सामग्री का दान करें

कर्क राशि से तीसरे भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति आपके पराक्रम में कुछ कमी कर सकती हैं इस समय भाग्य पर भरोसा रखें
उपाय: भगवान शिव के मंदिर में सफेद चावल और कपूर का दान करें नमः शिवाय मंत्र का यथासंभव जप करें

सिंह राशि से दूसरे भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति धन का फायदा कराने के साथ-साथ परिवार में अकारण कलह करा सकती है
उपाय: अपने परिवार में मांगलिक कार्यक्रम अवश्य करवाएं तथा हनुमान चालीसा का पाठ सुबह के समय करें

शुक्र-बुध का नीच भंग राजयोग, 12 दिन 12 राशियों पर पड़ेगा असर
कन्या राशि में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति स्वास्थ्य में कुछ उतार-चढ़ाव कराने के साथ-साथ व्यापार में लाभ करा सकती है
उपाय: सुबह के समय देवी कवच का पाठ करें और निर्धन कन्याओं को हलवा खिलाएं

तुला राशि से बारहवें घर में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति अकारण खर्च बढ़ाने के साथ-साथ छोटी बड़ी यात्रा करा सकती है
उपाय: ॐ शुं शुक्राय नमः मंत्र का 108 बार जाप करें और भगवान शिव को खीर का भोग लगाएं

वृश्चिक राशि से ग्यारहवें घर में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति धन लाभ कराने के साथ-साथ संतान की समस्याओं का निवारण करेगी
उपाय:  घर की उत्तर दिशा में मुंह करके श्री सूक्त का पाठ करें और छोटी कन्याओं को सफेद वस्त्र का दान करें

धनु राशि से दशम भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति नौकरी में उतार-चढ़ाव कराने के साथ-साथ परिवार में अकारण कलह करा सकती है
उपाय: पीले आसन पर बैठकर विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें और भगवान कृष्ण को तुलसी और मिश्री का भोग लगाएं

मकर राशि से नवम भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति भाग्य में परिवर्तन के साथ-साथ सुख सुविधा बढ़ा देगी  लेकिन अपने कार्यों पर आप ध्यान अवश्य रखें
उपाय: पीपल के वृक्ष की जड़ में कच्चा दूध और मिश्री अर्पण करें तथा शनि चालीसा का पाठ करें

कुंभ राशि से अष्टम भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति रुका हुआ धन दिला सकती है लेकिन कहीं भी धन निवेश ना करें
उपाय:  पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दिया अवश्य जलाएं और लक्ष्मी चालीसा का पाठ करें

मीन राशि से सप्तम भाव में नीच के शुक्र और उच्च के बुध की युति साझेदारी में गड़बड़ कराने के साथ-साथ दाम्पत्य जीवन मे भी गड़बड़ करा सकती है इस समय अपने बड़ों की सलाह अवश्य लें
उपाय: भगवान विष्णु के 108 नामों का पाठ करें और पीली मिठाई का भोग लगाकर बच्चों को बांटे