Loading...

PALIWAL HOSPITAL में महिला की मौत, परिजनों ने डॉक्टरों, नर्साें और रिसेप्शनिस्ट को पीटा | BHOPAL NEWS

भोपाल। ISBT स्थित पालीवाल हाॅस्पिटल में रविवार सुबह करीब 9 बजे कुछ लाेगाें ने ताेड़फाेड़ कर दी। राेकने पर अस्पताल के स्टाफ के साथ मारपीट की गई। हंगामा करने वालाें ने नर्साें समेत दूसरे महिला स्टाफ से मार-पीटकर कपड़े भी फाड़ दिए और एसिड अटैक की धमकी भी दी। यही नहीं, अस्पताल का मंदिर और अन्य सामान में ताेड़फाेड़ भी कर दी। ये लाेग एक महिला काे लेकर पहुंचे थे। ड्यूटी डाॅक्टर ने महिला काे मृत बताते हुए इलाज करने से इंकार किया ताे परिजन भड़क गए और हंगामा किया। अस्पताल प्रबंधन ने गाेविंदपुरा थाने में शिकायत की।    

अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक अन्ना नगर निवासी नर्मदी बाई काे लेकर उनके परिजन अस्पताल पहुंचे थे। ड्यूटी डाॅक्टर ने जांच के बाद परिजनाें काे बताया कि नर्मदी बाई की माैत हाे चुकी है। यह सुनते ही परिजन भड़क गए, उन्हाेंने दाेबारा जांच करने को कहा। डाॅक्टर ने दाेबारा जांच कर माैत की पुष्टि की। इस पर परिजन भड़क गए और डाॅक्टर के साथ झूमाझटकी शुरू कर दी। स्टाफ ने राेकना चाहा ताे उन्हाेंने अस्पताल में ताेड़फाेड़ शुरू कर दी। इसकी सूचना गाेविंदपुरा थाना पुलिस काे दी। 

अस्पताल प्रबंधन बोला- पहले ही हो चुकी थी महिला की मौत 

अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे से फुटेज के मुताबिक मृतका के परिजनों ने डॉक्टरों के अलावा रिसेप्शनिस्ट, नर्स और गार्ड से भी हाथापाई की। 

परिजनाें का आराेप- एडवांस रुपए मांगे 

माैक पर पहुंची पुलिस काे परिजनों ने बताया कि अस्पताल स्टाफ ने एडवांस रुपए जमा करने काे कहा था। पैसा जमा नहीं हुआ ताे इलाज शुरू नहीं किया। समय पर इलाज नहीं मिलने से मरीज की माैत हुई। 

डॉक्टर पहुंचे थाने, देर शाम FIR  

हंगामे के दाैरान परिजनाें ने दाे नर्सों के वीडियाे बनाए और फाेटाे खींचे। स्टाफ का आराेप है कि ये लाेग कह रहे थे कि इनके वीडियाे बनाओ ताकि जब बाहर निकलें ताे या ताे इन्हें उठा लेंगे या इन पर एसिड अटैक करेंगे। शाम 7 बजे तक हंगामा करने वालाें के खिलाफ FIR नहीं हुई ताे करीब 50 डाॅक्टर गाेविंदपुरा थाना पहुंचे। वे आराेपियाें के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की मांग कर रहे थे। इसके बाद पुलिस ने देर शाम एफआईआर दर्ज कर ली।