Loading...

JHANSI-BHOPAL रेलवे लाइन पर पानी में डूबी, कई ट्रेनें प्रभावित, RAISEN टापू बना चारों तरफ से डिस्कनेक्ट

झांसी। भारी बारिश के कारण गुरुवार को झांसी-भोपाल रेलवे रूट पर बारिश का पानी जमा हो गया। इससे 5 घंटें तक ट्रेनें खड़ी रहीं। झांसी मंडल के PRO मनोज राय के मुताबिक पहाड़ी क्षेत्र से आया बारिश का पानी ललितपुर और बीना स्टेशनों के बीच धौर्रा के पास रेलवे लाइन पर जमा हो गया। इससे 6 गाड़ियों को कई घंटे रोकना पड़ा था।

राष्ट्रीय राजमार्ग 12: भोपाल जबलपुर सड़क मार्ग बन्द

रायसेन। मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले स्थित बरगी बांध के पंद्रह गेट खोले जाने के कारण नर्मदा नदी के ऊफान पर आने से रायसेन जिले के बरेली के समीप बारना नदी के पुल पर बैक वाटर आ गया जिसके चलते रायसेन का जबलपुर और भोपाल से सड़क संपर्क टूट गया। बरगी बांध के सभी गेट खुले होने से देर रात को बरेली के पास बारना नदी पर पानी आ गया। जिस कारण नर्मदा नदी के किनारे बसे गावों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। बारना पुल पर पानी आने से राष्ट्रीय राजमार्ग 12 का सड़क मार्ग बंद हो गया है। इसके भोपाल जबलपुर सड़क मार्ग बन्द है। दोनों तरफ बाहनों की लंबी कतारें लगी हुई हैं। 

विदिशा रायसेन राष्ट्रीय राजमार्ग 146 तीन दिन से बंद

वहीं विदिशा रायसेन राष्ट्रीय राजमार्ग 146 तीन दिन से बंद है। यहां बेतवा के पगनेश्वर पुल पर 10 फिट पानी है। जबलपुर के बरगी डेम के 15 गेट खुले हुए हैं। इसके चलते रायसेन जिले के उदयपुरा में नर्मदा नदी पर बने पुल पर पानी आ गया है। यह पुल रायसेन जिले को नरसिंहपुर जिले से जोड़ता है। इस क्षेत्र में लगभग 100 ग्राम बसे हुए हैं, जिनका संपर्क पर टूट गया है। 

नर्मदा का जलस्तर 5 से 6 मीटर ऊपर बढ़ने की संभावना

बरगी बांध के कंट्रोल रूम के अधिकारियों के अनुसार बुधवार रात से बरगी डेम के 15 गेट डेढ़ मीटर तक खोले गए हैं। जिनसे 3450 क्यूसिक पानी प्रति सेकेंड निकल रहा है। बताया गया है कि 1 लाख 28 हजार 900 क्यूसिक पानी छोड़ा जाना है। जिस कारण वर्तमान जलस्तर से नर्मदा नदी का जलस्तर 5 से 6 मीटर ऊपर बढ़ने की संभावना है।