GWALIOR NEWS : आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाओं ने धरना दिया

ग्वालियर। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं के वेतन में की गई कटौती सहित अन्य मांगों को लेकर शुक्रवार की सुबह मोर्चा खोलते हुए धरने पर बैठ गई। आगनबाडी कार्यकर्ता और सहायिकाओं का कहना है कि शिवराज सरकार द्वारा वेतन मान बढ़ाया गया था। जिससे 18 हजार रूपए मिल रहे थे। लेकिन अब कमलनाथ सरकार ने इसमें कटौती कर दी है। जिससे 10 हजार रूपए भी पूरे नहीं मिल रहे हैं। सरकार अपने इस फैसले को बदले और कार्यकर्ता और सहायिकाओं की समस्याओं का समाधान करें। नहीं तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

ठेकेदार ने इंजीनियर से की अभद्रता

ग्वालियर। पुराना बकाया होने पर नया कनेक्शन ना देने पर एक ठेकेदार बिजली विभाग के दफ्तर जा पहुंचा और जूनियर इंजीनियर से कनेक्शन करने को कहा। जब इंजीनियर ने पुराना बकाया जमा कराने पर ही नया कनेक्शन देने को कहा तो ठेकेदार ने जूनियर इंजीनियर से अभद्रता कर जान से मारने की धमकी दे दी। धमकी का शिकार पीडि़त थाने पहुंचा और मामले की शिकायत की। पुलिस ने उसकी शिकायत पर शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज कर लिया है।

पडाव पुलिस ने बताया कि तानसेन नगर स्थित बिजलीघर पर जूनियर इंजीनियर प्रताप पुत्र राधाबल्लभ पदस्थ हैं। वह अपने कार्यालय में बैठे हुए थे कि तभी वहां पर किशन सिंह बेस पहुंचे और खुद को ठेकेदार बताते हुए कहा कि उनके परिचित नादान मिश्रा के घर पर बिजली का मीटर क्यों नहीं लगाया गया है। इस पर जूनियर इंजीनियर ने उन पर 1लाख 27 हजार रूपए मेंसर्स तिरुपति इंजीनियरिंग वक्र्स पर बकाया होने और पुराना बिल क्लियर होने पर कनेक्शन देने की बात कही। इस पर किशन सिंह बैस ने झूमाझटकी कर अभद्रता कर जान से मारने की धमकी दे दी। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज कर लिया है।