Loading...

GWALIOR में इन 4 दुकानों का मावा जांच में घटिया पाया गया


ग्वालियर। भोपाल से आई जांच रिपोर्ट के अनुसार मोर बाजार का पाल मावा भंडार, सिंघल डेयरी फ्रूट एंड मावा स्टोर, श्री मावा भंडार, राजपूत मावा भंडार से सैंपल लिया गया मावा, घटिया पाया गया है। इसके अलावा गिर्राज डेयरी बेहट रोड मौ से लिया मिक्स दूध का नमूना भी अमानक निकला है।


तीन सप्ताह पहले मोर बाजार, बेहट व मयूर मार्केट से खाद्य पदार्थों के 10 नमूनों की जांच रिपोर्ट मंगलवार को भोपाल लैब से आई। इनमें से पांच अमानक निकले हैं जबकि पांच मानक। इससे पहले 134 नमूनों में से 21 की रिपोर्ट आई थी, इनमें 16 अमानक पाए गए थे। मंगलवार को आई रिपोर्ट में मावे के चार नमूने अमानक मिले हैं। मंगलवार को खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम ने खेरापति स्थित पूजा स्वीट्स से पिस्ता बर्फी, बूंदी के लड्‌डू व गजब नमकीन के तीन नमूने लिए। 

अब इन 4 मिठाई, दूध कारोबारी और रेस्टोरेंट पर की गई कार्रवाई 
गुप्ता मिष्ठान भंडार: कटीघाटी स्थित इस मिठाई दुकानदार के खिलाफ तीन लाख रुपए का जुर्माना किया गया। आरोप यह है कि इनके द्वारा मिथ्या छाप के खाद्य पदार्थों का बिक्री बिना रजिस्ट्रेशन के की जा रही थी। 
नरवरिया डेयरी: हजीरा स्थित इस डेयरी से खाद्य पदार्थों की बिक्री बिना किसी रजिस्ट्रेशन के की जा रही थी। इसी आधार पर न्याय निर्णयन अधिकारी ने दो लाख रुपए का जुर्माना किया है। 
रामू डेयरी: शिंदे की छावनी इस डेयरी की जांच कुछ समय पहले की गई थी। यहां खाद्य पदार्थों का कारोबार बिना रजिस्ट्रेशन के होते मिला। इसी आधार पर दो लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। 
विक्टोरियन विंटेज: लैब रिपोर्ट के मुताबिक सनातन धर्म मंदिर स्थित इस रेस्टारेंट पर अमानक स्तर के खाद्य पदार्थों मिले थे। इसी आधार पर रेस्टारेंट संचालक पर तीन लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। 

टीम को बंद मिली जेयू की कैंटीन 
किसी व्यक्ति ने जेयू में चलने वाली कैंटीन को लेकर शिकायत की थी। इसी आधार पर मंगलवार को खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम जेयू जांच के लिए पहुंची। यहां पर कैंटीन बंद मिली। जानकारी लेने पर बताया गया कि कैंटीन का अनुबंध खत्म हो चुका है।