Loading...

BHOPAL NEWS: ASI सुबह उठे तो बेटा सो रहा था, टॉयलेट से लौटे पर फांसी पर लटका था

भोपाल। पुलिस कॉलोनी में ASI के इकलौते बेटे की मंगलवार तड़के संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। वो परिवार के साथ रात को सोया था। सुबह चार बजे टॉयलेट जाते समय पिता ने उसे सोते हुए देखा था। टॉयलेट से लौटकर आए तो बेटे को फंदे पर लटका देखा। कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है।

किसी प्रकार का तनाव नहीं था

पुलिस रेडियो कॉलोनी, भदभदा रोड निवासी 16 वर्षीय आदित्य पातूरकर (Aditya Paturkar) 11वीं कक्षा का छात्र (11th grade student) था। उसके पिता प्रेम पातूरकर (Prem Paturkar) पुलिस की रेडियो शाखा में एएसआई हैं। थाना प्रभारी विजय सिंह सिसौदिया के मुताबिक सोमवार रात खाने के बाद रोज की तरह आदित्य पिता के पास जमीन पर सो गया। मां और छोटी बहन बिस्तर पर सो रहे थे।

कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है

मंगलवार तड़के करीब चार बजे पिता की नींद खुली तो आदित्य को सोते हुए देखा। इसके बाद वे बाथरूम में चले गए। कुछ मिनट बाद लौटे तो आदित्य नजर नहीं आया। दूसरे कमरे में गए तो वह फंदे पर लटका नजर आया। उसने दुपट्टे से फांसी लगा ली थी। उसे फंदे से उतारा, लेकिन तब तक उसकी सांसें थम चुकी थीं। पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

पड़ौसी भी हैरान हैं

पड़ोसी भूप नारायण दुबे ने बताया कि आदित्य पढ़ाई में होशियार था। उसने ये कदम क्यों उठाया, ये सवाल परिवार के साथ-साथ पड़ोसियों को भी हैरान कर रहा है। जिस कमरे में उसने फांसी लगाई, उसमें वह पढ़ाई करता था। आदित्य घर का इकलौता बेटा था। उसे हमेशा के लिए खोने का गम प्रेम पातूरकर सहन नहीं कर पा रहे हैं। वे बिलखते रहे कि मेरा बेटा मुझे छोड़कर क्यों चला गया? उनकी तबीयत बिगड़ने के कारण आदित्य को मुखाग्नि चाचा को देनी पड़ी।