Loading...

3 साल पहले बंद हो गए स्कूलों में शिक्षकों के तबादले | MP SHIKSHA VIBHAG SAMACHAR

भोपाल। शिक्षा विभाग में बड़ा घोटाला सामने आया है। तबादला प्रक्रिया की पारदर्शिता को खत्म कर गुपचुप तबादले किए गए लेकिन अब उनकी गड़​बड़ियां सामने आ रहीं हैं। शिक्षा विभाग ने कई शिक्षकों के तबादले ऐसे स्कूलों में कर दिए जो सालों पहले ही बंद हो चुके थे। उन स्कूलों में छात्रों की संख्या कम थी। छात्रों को दूसरे स्कूल में मर्ज कर दिया गया था। 

जानकारी के मुताबिक विदिशा जिले की प्राथमिक की टीचर अंजना शर्मा का ट्रांसफर प्राथमिक शाला बहीबिया में किया गया, लेकिन वहां जाकर पता लगा कि इस स्कूल को तीन साल पहले ही पास के एक स्कूल से मर्ज कर दिया गया था, इसी तरह राकेश कुमार का बालक गिन्नौरी में तबादला कर दिया गया, लेकिन इसे भी 3 साल पहले दूसरे स्कूल में मर्ज कर दिया गया था।

मामले की जानकारी तब हुई जब शिक्षक अपने जिले से रिलीव होकर ज्वाइनिंग करने पहुंचे तो उन्हें इस बारे में जानकारी हुई कि जिस स्कूल में उनका तबादला किया गया है वो तो 3 साल पहले ही बंद हो गया है। उसके छात्रों को दूसरे स्कूल में मर्ज कर दिया गया है।