हंसता खिलखिलाता 10 वर्षीय बालक बरसाती बाढ़ में बह गया (VIDEO)

भोपाल। मध्य प्रदेश के धार जिले से दुखद खबर आ रही है। यहां हंसता-खिलखिलाता 10 साल का एक बालक बलवंती नदी की बाढ़ में बह गया। सरकार ने यहां विकास के नाम पर वोट तो लिए लेकिन पुरानी पुलिया तोड़कर नई नहीं बनवाई। नदी का पानी पुलिया के ऊपर से गुजर रहा था। 

धार जिले में पिछले 3 दिनों से तेज बारिश के चलते नदी नाले उफान पर हैं बदनावर में बलवंती नदी पर माथुर कॉलोनी की पुलिया पर से पानी बह रहा था। उसी दौरान एक 10 वर्ष के बालक ने अपनी साइकल से उस रपट को पार करने का प्रयास किया। वो तेज गति से बहते पानी के बीच में आया। जैसे पानी को चीरते हुए निकल जाएगा परंतु नदी के बहाव में आते ही फंस गए। काफी देर के बाद बच्चे का शव 1 किलोमीटर दूर से मिला। 

बच्चे की लापरवाही नहीं, सरकार का निकम्मापन है

हर बारिश के मौसम में इस तरह के रपटे और पुलियाओं पर सैंकड़ों लोगों की मौत हो जाती है। लोग मरने वाले को दोषी मानते हैं, जबकि असर में इसके लिए सरकार दोषी है। किसी भी नदी या नाले पर इस तरह का रपटा या पुलिया होनी ही नहीं चाहिए जो जलस्तर बढ़ने पर डूब जाए और पानी पुल के ऊपर से जाने लगे। सरकार को चाहिए कि वो अधिकतम रिकॉर्ड जलस्तर को न्यूनतम मानते हुए, अधिकतम का अनुमान लगाए और फिर पुल या पुलिया की ऊंचाई तय करे।