Loading...

बेटी की राजनीति में फंसे भाजपा विधायक ने कहा: पत्नी के साथ फांसी पर झूल जाऊंगा | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। अपनी ही बेटी साक्षी मिश्रा की पॉलिटिक्स में फंस गए उत्तरप्रदेश बरेली के विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल (BARELI MLA RAJESH MISHRA) ने झुंझलाकर कहा कि अब यदि उन्हे साक्षी की शादी के नाम पर ज्यादा तंग किया गया तो वो आत्महत्या कर लेंगे। बता दें कि आज दिनभर से तमाम टीवी न्यूज चैनल विधायक से बात कर रहे हैं। वो अपना लिखित बयान जारी कर चुके हैं कि उन्हे विवाह से कोई आपत्ति नहीं है, फिर भी उन्हे खलनायक की तरह पेश किया जा रहा है। टीवी न्यूज ऐंकर्स साक्षी के एडवोकेट की तरह उनसे सवाल कर रहे हैं। 

मामला क्या है

भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा ने एक दलित युवक अजितेश कुमार से लवमैरिज कर ली। वो कई दिनों से लापता थी। विधायक राजेश मिश्रा और उनके परिचित साक्षी की तलाश कर रहे थे। अचानक साक्षी ने एक के बाद एक 2 वीडियो जारी किए। इसमें साक्षी ने बताया कि उसके विधायक पिता उसकी हत्या करना चाहते हैं। दूसरे वीडियो में साक्षी ने अपने पिता और परिचितों को धमकी भी दी। साक्षी ने इस मामले में भारत के किसी भी पुलिस थाने में एफआईआर के लिए आवेदन नहीं दिया और ना ही पुलिस या सरकार के सामने सुरक्षा की मांग की। सबकुछ सोशल मीडिया पर चला। 

टीवी चैनलों ने मामले को मसाला बना दिया

गुरूवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो के बाद देश के तमाम बड़े टीवी चैनलों ने इस मामले को मसाला बना दिया। साक्षी और उसके पति को स्टूडियो में बुलाया गया और विधायक राजेश मिश्रा को लाइन पर लेकर कई तरह के सवाल किए गए। एक के बाद एक कई टीवी चैनलों ने विधायक को मीडिया ट्रायल पर ले लिया। अभी तक ना तो साक्षी ने रिपोर्ट लिखाई है और ना ही जांच हुई है। बावजूद इसके ज्यादातर न्यूज ऐंकरों ने साक्षी के एडवोकेट की तरह चुभते हुए सवाल किए और बार बार यह साबित करने की कोशिश की कि विधायक राजेश मिश्रा अच्छे पिता नहीं है। वो जातिवादी है, वो लिंगभेद करते हैं। 

साक्षी की मां परेशान हैं, दवा भी नहीं ले रहीं

विधायक राजेश मिश्रा ने कहा कि मेरी पत्नी टीवी चैनलों पर चल रही खबरों से इतनी परेशान है कि वो खुदकुशी कर लेगी। वो बीमार है और बेटी की वजह से इतनी दुखी है कि दवा भी नहीं ले रही। 

विधायक राजेश मिश्रा का बयान

राजेश मिश्रा को बेटी के प्रेम विवाह और सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल के पीछे राजनीतिक साजिश नजर आ रही है। उन्होंने कहा कि मेरी साक्षी से कोई नाराजगी नहीं है वो जहां रहे खुश रहे।  विधायक पप्पू ने कहा कि उन्हें अजितेश की उम्र पर एतराज है। वह इस बात का विरोध नहीं कर रहे कि साक्षी ने अनुसूचित जाति के युवक से शादी की है। एतराज इस बात पर है कि अजितेश उनकी बेटी से नौ साल बड़ा है। बतौर पिता मुझे भी बेटी के भविष्य की फिक्र है। बेटी बालिग है उसे अपनी मर्जी से फैसले लेने का अधिकार है। जहां तक राजीव राणा की बात है तो उसकी कॉल डिटेल निकलवा ली जाए। स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। बेटी को बराबर का दर्जा देने के सवाल पर पप्पू ने कहा कि बेटी मेरे लिए बेटे से बढ़कर है। वह किसी के सिखाए में आकर उनके ऊपर उल्टे सीधे आरोप न लगाए। 

टीवी वाले बार बार फोन लगाकर तंग करते रहे

एक टीवी स्टूडियो में साक्षी व अजितेश के साथ अजितेश के पिता की मौजूदगी में विधायक राजेश मिश्रा के पास भी फोन लगाया गया। पहले तो उन्होंने थोड़ी देर बात करके और बेटी को खुश रहने का आशीर्वाद देकर फोन काट दिया। इसके बाद जब उनसे दोबारा संपर्क किया गया तो उन्होंने बेटी साक्षी से थोड़ी बात की। उन्होंने अपनी बेटी को शुभकामनाएं दी। साक्षी के पिता विधायक राजेश मिश्रा ने उसको शुभकामनाएं देकर फिर से फोन काट दिया। इसके बाद जब उनसे दोबार संपर्क किया गया तो बेटी साक्षी ने पिता से बात की और उनसे सवाल भी पूछे। जब विधायक से पूछा गया कि उन्होंने बेटी के मन की बात क्यों नहीं सुनी तो उन्होंने कहा कि मेरी तरफ से उसे कोई खतरा नहीं होगा।

साक्षी ने अपनी मां पर भी गंभीर आरोप लगाए

साक्षी ने बताया कि जयपुर में पढ़ाई के दौरान जब मम्मी मेरे पास रहने गई तो वह मुझे बहुत डराती थीं। अखबार में निगेटिव खबरें दिखाती थीं कि कैसे किसी बागी लड़की को घर वाले मार देते हैं। वो मुझे ऑनर किलिंग का डर दिखाती थी। इसके बाद ऐसी बातों से मेरी हिम्मत बढ़ गई। इसके बाद तो मैं वही करने लगी जिसका डर ये लोग दिखाते थे। साक्षी ने यह भी आरोप लगाया कि जिस प्रकार मेरे भाई को सारी छूट दी जाती थी वो मुझे कभी नहीं दी गई।

दिनभर टीवी चैनल मसाला मूवी बनाते रहे

इस मामले को आज दिन भर कई टीवी मसाला मूवी की तरह पेश करते रहे। उन्हे इसमें कई एंगल नजर आ रहे थे। सत्तारूढ़ दल का विधायक, विधायक की बेटी की लव मैरिज, दलित युवक से भागकर शादी, जुल्मी पिता, निर्दयी मां और ना जाने क्या क्या। टीवी ऐंकर लगातार किसी वकील की तरह सवाल करते और जज की तरह फैसला सुनाते नजर आए। 

पीडित साक्षी को राजनीति और कानून की समझ

इस मामले में अबला की तरह प्रस्तुत हुई विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा को राजनीति और कानून की काफी समझ नजर आई। दिनभर जिस तरह से उसने कैमरों के सामने आकर बात की। कोई कह नहीं सकता कि यह वही लड़की है जो कहानियों मेें नजर आ रही है। जिसे घर से निकलने नहीं दिया जाता था। साक्षी को बरेली के लगभग हर ब्रड़े नेता के बारे में पूरी जानकारी थी, मानो वो अपने पिता के साथ राजनीतिक मामलों में भाग लेती रही हो। 

सारा ड्रामा दवाब बनाने के लिए

शाम होते होते यह संदेह करने के कुछ कारण उपस्थित हुए कि यह सारा ड्रामा विधायक राजेश मिश्रा पर दवाब बनाने के लिए किया जा रहा है। साक्षी ने अपने पिता से बात करते हुए ना केवल माफी मांगी बल्कि यह भी कहा कि हमें अपना लो, जबकि एक दिन पहले साक्षी ने अपने पिता से जान का खतरा बताया था। इस मामले में सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है लेकिन साक्षी ने पिता के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की जबकि अब उसे किसी तरह का डर नहीं है। मीडिया के कैमरे उसकी सुरक्षा कर रहे हैं।