Loading...

सुसाइड नोट सौतेली माँ ने जला दिया था फिर भी पुलिस तक पहुंच गया | JABALPUR NEWS

जबलपुर। सौतली मां की प्रताड़ना से तंग होकर रामपुर छापर निवासी मोनू ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या पूर्व लिखे सुसाइड नोट को अपने बचाव के लिए सौतेली मां ने नष्ट कर दिया था लेकिन फिर भी पकड़ी गई। शायद मृतक को पता था कि उसकी सौतेली माँ ऐसा ही कुछ करेगी इसलिए उसने सुसाइड नोटा का फोटो मोबाइल में खींच लिया था। जो जांच के दौरान पुलिस को मिल गया। 

पुलिस के मुताबिक रामपुर छापर विजयनगर-2 निवासी प्रीतम सिंह उर्फ मोनू ठाकुर ने 14 मई की शाम करीब 4.30 बजे खुद को कमरे में बंद कर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जांच में पता चला कि मृतक की शादी में कम दहेज मिलने पर सौतेली मां आशा ठाकुर उसे आए दिन शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना देती थी। 

प्रताड़ित मोनू ने कई बार अपनी जान देने की चेतावनी दी थी लेकिन सौतेली मां पर उसका कोई असर नहीं हुआ। घटना के दिन मोनू ने सुसाइड नोट लिखा और कमरे में फांसी के फंदे पर झूल गया। पुलिस ने घटनास्थल की जांच की लेकिन वहां सुसाइड नोट नहीं मिला परंतु मोबाइल की जांच में सुसाइड नोट का फोटो मिल गया। सुसाइड नोट मेें सौतेली मां की प्रताड़ना के चलते आत्महत्या का कारण लिखा गया था। सौतेली माँ फरार हो गई है। पुलिस तलाश कर रही है।