Loading...

घर खर्च के लिए बिना ब्याज का लोन दे रहा है ICICI Bank | LOAND WITHOUT INTEREST

प्राइवेट सेक्टर के तृतीय श्रेणी वेतनमान वाले कर्मचारियों के साथ कई बार ऐसा होता है कि आपका BANK ACCOUT निल हो जाता है जबकि घर तो चलाना ही होता है। ऐसे में वो अक्सर अपने साथी कर्मचारी, दोस्त या रिश्तेदारों से पैसे उधार (BORROWING) लेते हैं या फिर बाजार में दुकानदारों को उधार के लिए कंवेंस करते हैं परंतु अब ऐसा कुछ करने की जरूरत नहीं है। ICICI Bank एक ऐसा फीचर लेकर आया है जिसमें यदि आपके बैंक अकाउंट में 1 रुपया भी शेष नहीं बचा तब भी आप कम से कम घर के नियमित खर्चों को पूरा करने के लिए एक निर्धारित रकम का उपयोग कर सकते हैं। यह एक प्रकार का लोन है परंतु इस पर कोई ब्याज (LOAN WITHOUT INTEREST) नहीं लगेगा। बस आपको बताई गई तारीख तक पैसा वापस करना होगा। 

बिल्कुल वैसा ही LOAN जैसा दोस्त देता है

ICICI Bank की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक बैंक के कस्टमर्स PayLater अकाउंट के जरिए बिना किसी ब्याज के लोन ले सकते हैं। ये पे लेटर अकाउंट एक डिजिटल क्रेडिट प्रोडक्ट है, जो एक क्रेडिट कार्ड की तरह ही काम करता है, जहां आप पहले खर्च करते हैं और बाद में इसका भुगतान करते हैं। इस सुविधा के तहत आपको बैंक से 30 दिन के लिए एक निश्चित राशि उधार में दी जाती है। जिसे आपको बाद में लौटाना होता है। बैंक इस PayLater सुविधा के तहत आपको 45 दिन के लिए इंटरेस्ट-फ्री लोन देता है।

कैसे मिलती है ये सुविधा

ICICI Bank की PayLater की सुविधा इंटरनेट बैंकिंग, iMobile और पॉकेट्स वॉलेट पर उपलब्ध है। इस सुविधा के तहत ली गई रकम से आप न तो क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान कर सकते हैं और न ही फंड ट्रांसफर करने के लिए इस सुविधा का इस्तेमाल कर सकते हैं। केवल खरीददारी कर सकते हैं। फिर चाहे वो महीने का राशन हो, स्कूल फीस या फिर किसी रिश्तेदार की शादी में दिए जाने वाला उपहार। 

कितना पैसा मिल सकता है

आप आईसीआईसीआई बैंक के Paylater अकाउंट के तहत 5 हजार से लेकर 25 हजार तक की रकम ले सकते हैं। हालांकि आपको कितनी रकम मिलती है, यह इस पर निर्भर करेगा कि बैंक के हिसाब से आप कितनी रकम के लिए योग्य हैं. आपके क्रेडिट स्कोर पर निर्भर करता है।

लास्ट डेट तक उधारी नहीं चुकाई तो

Paylater सुविधा का लाभ उठाने के लिए वैसे तो किसी तरह का ब्याज नहीं देना होता है, लेकिन अगर आप डेडलाइन तक अपना बिल नहीं भरते, तो आपको बैंक द्वारा लेट पेमेंट चार्जेस देने होंगे। ये चार्ज आपको तब तक देना होगा जब तक आप ने अपना ड्यू क्ल‍ियर नहीं करते हैं।