Loading...

खांसी का COREX सीरप, दारू की जगह बेच रहा था, माफिया गिरफ्तार | MP NEWS

भोपाल। दवाएं बेचने के अपने नियम हैं। इसमें दुकानदार और ग्राहक का सामान्य नियम काम नहीं करता। दवा विक्रेता किसी भी व्यक्ति को तभी दवा बेच सकता है जबकि किसी डॉक्टर ने पर्चा लिखा हो और उस डॉक्टर को दवा विक्रेता विश्वास के साथ पहचानता हो कि वो फर्जी डॉक्टर नहीं है। रीवा और सतना ज़िले में शराब की तरह बेचने के लिए लाई गई खांसी की COREX सीरप का जखीरा बरामद किया गया है। इसके साथ ही COREX माफिया संजय ताम्रकार को भी अरेस्ट कर लिया गया है। 

सतना में कोरेक्स सिरप के 400 पेटी से अधिक बरामद होने से पुलिस भी हैरत में है। बता दें कि कोरेक्स सिरप नशे के लिए पर बड़ी मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है। इसका चोरी-छुपे व्यापार लंबे वक्त से फल-फूल रहा है। कोलगवा थाना क्षेत्र के टिकुरिया टोला में पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि भारी मात्रा में कोरेक्स सिरप को टिकुरिया टोला के एक मकान में छुपा कर रखा गया है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छापेमारी की कार्रवाई की।

पहले भी ड्रग्स की सप्लाई में पकड़ा जा चुका है संजय ताम्रकार

पुलिस की मानें तो कुशल कंधारी नामक व्यापारी का यह मकान है जहां से कोरेक्स बरामदगी हुई है। पुलिस की कार्रवाई के दौरान मौके से संजय ताम्रकार नामक युवक को हिरासत में लिया गया है। संजय के खिलाफ पूर्व में भी नशे का व्यापार करने के मामले दर्ज हैं। रीवा जिले में कई बार पुलिस के हाथ लग चुका था।