Loading...

भारत के 7 राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, मुंबई के लिए रेड अलर्ट | INDIA WEATHER FORECAST

नई दिल्ली। भारत सरकार के मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और नगालैंड में अगले दो दिन भारी बारिश की चेतावनी दी है। साथ ही मुंबई के लिए भी रेड अलर्ट जारी किया है। नासिक में गोदावरी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।मंगलवार को मौसम विभाग ने कहा कि मुंबई में अगले 48 घंटों में भारी बारिश की संभावना है। हिमाचल प्रदेश के शिमला, कुल्लू, मंडी और कांगड़ा में मंगलवार को तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो सकती है। 

अरब सागर से तेज रफ्तार हवाएं चलने की संभावना

मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तरी, मध्य और दक्षिण-पश्चिमी अरब सागर की ओर से 40-50 की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। इसका असर उत्तर-पूर्वी राज्य नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा पर ज्यादा होगा। यहां अगले दो दिनों में भारी बारिश हो सकती है।

मप्र के 19 जिलों के लिए अलर्ट जारी

सोमवार को मध्यप्रदेश में भोपाल में 166.5 मिमी, खंडवा 163.0 मिमी और खरगौन 117.4 मिमी बारिश हुई। अगले 48 घंटों में राज्य के इंदौर, उज्जैन, धार, खंडवा, राजगढ़, गुना, विदिशा, सिहोर, छिंदवाड़ा, बालाघाट, डिंडौरी, अनुपपुर, सिवनी, हरदा, होशंगाबाद, खंडवा, झाबुआ, अलीराजपुर और मंदसौर के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। मध्यप्रदेश मौसम विभाग के वरिष्ठ अधिकारी आरआर त्रिपाठी के मुताबिक, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड से मानसूनी चक्रवात बना है, जो मध्यप्रदेश की ओर बढ़ रहा है।

बिहार-असम में बाढ़ से अब तक 213 की मौत

बिहार और असम में बाढ़ के चलते अब तक 213 लोगों की मौत हो गई है। करीब सवा करोड़ लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। अकेले बिहार के 12 जिलों में 127 और असम के 18 जिलों में 86 लोगों की जान गई है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में बिहार की सभी नदी किनारे वाले क्षेत्र में हल्की से सामान्य बारिश होने की संभावना जताई है। बिहार जल संसाधन विभाग ने बताया कि बागमती, बूढ़ी गंडक, कमला बलान, अधवारा और खिरोई नदी राज्य में 9 स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। वहीं, असम में ब्रह्मपुत्र नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही।

बिहार आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक, राज्य के 13 जिले सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। सीतामढ़ी में सबसे ज्यादा 37 की मौत हुई, जबकि मधुबनी में 30, अररिया में 12, दरभंगा में 12, शिवहर में 10, पूर्णियां में 9, किशनगंज में 7, मुजफ्फरपुर में 4, सुपौल में 3, पूर्वी चंपारण में 2 और सहरसा में 1 व्यक्ति की मौत हुई है।