Loading...

SAMBAL SCAM: 50 प्रतिशत हितग्राही फर्जी हैं, जांच कराएंगे: श्रम मंत्री

भोपाल। अप्रैल 2018 में तत्कालीन सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 2.2 करोड़ लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल (अब नया सवेरा) योजना शुरू की थी, लेकिन 13 महीने में ही यह योजना धांधली के आरोपों में घिर गई है। कांग्रेस सरकार अब इसकी जांच कराएगी।

श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने मंगलवार को कहा कि भाजपा के लोगों ने इसमें धांधली की है। 2.2 करोड़ हितग्राहियों में से 40 से 50 फीसदी फर्जी हैं। इनके नाम पर भाजपा वाले फायदा उठा रहे हैं। विभाग ने सभी संभागायुक्तों, कलेक्टरों, नगर निगम आयुक्तों और जिला पंचायत सीईओ को पत्र लिखकर सत्यापन के निर्देश दिए हैं।  एक जुलाई से 15 जुलाई तक अभियान चलाकर हितग्राहियों का भौतिक सत्यापन कराया जाएगा। सर्वे में जो भी दोषी मिलेगा, उस पर कार्रवाई करेंगे।

सिसोदिया ने बताया कि संबल योजना अब नया सवेरा योजना हो गई है। इसमें नए कार्ड दिए जाएंगे। उसमें आधार नंबर भी होगा। इसके साथ ही उससे आयुष्मान योजना का लाभ भी हितग्राही को मिलेगा।

घर-घर पहुंचेगी टीम, हितग्राहियों को जांचेगी

पंचायत व वार्ड के हितग्राहियों की सूची श्रम सेवा पोर्टल से ली जाएगी।
घर-घर जाकर हितग्राहियों का सत्यापन होगा।
पंचायत में सचिव व नगरीय क्षेत्र में वार्ड प्रभारी सत्यापन करेंगे।
सत्यापन के बाद अपात्र के नाम हटाए जाएंगे।
सर्वे के दौरान पात्र हितग्राहियों के आधार नंबर भी अपडेट किए जाएंगे।