Loading...

मकान मालिक ने 'मिर्ची बाबा' की पोल खोली, बोले शुरू से ही ढोंगी है, जेल भी गया था | MP NEWS

भोपाल। मिर्ची यज्ञ करके तमाम बाधाएं दूर करने का दावा करने वाले महामंडलेश्वर बाबा वेराग्यानंद महाराज उर्फ मिर्ची बाबा (MAHA MANDLESHWAR VAIRAGYA NANAD MAHARAJ - MIRCHI BABA) की पोल (REAL STORY) उनके ही पुराने मकान मालिक से खोल डाली। उन्होंने कहा कि यह तो राकेश है, खदान खलासी का काम करता था। 1 नम्बर का ढोंगी (FRAUD) है। मंदसौर में जेल (CRIME- JAIL) भी गया था। 

दीनदयाल नगर, ग्वालियर निवासी इंद्रजीत सिंह भदौरिया (8287508055) ने फोन करके भोपाल समाचार को बताया (अनुमति प्राप्त करके बातचीत को रिकॉर्ड किया गया) कि कोई 2012 से 2014 के बीच यह आदमी उनके यहां किराए पर रहा है। श्री भदौरिया ने बताया कि इसका नाम राकेश है। यह गांव बिडखरी, मालपुर जिला भिंड का रहने वाला है। डंपरों पर खलासीगिरी (सहायक/क्लीनर) करता था। 2012 में ग्वालियर आने से पहले यह मंदसौर में था। वहां किसी के साथ फ्रॉड किया होगा, इसके खिलाफ पुलिस प्रकरण दर्ज हुआ था। इसे जेल भी भेजा गया था। जब यह मंदसौर से ग्वालियर आया तो इसके साथ एक ​महिला था जिसे यह अपनी बहन बताता था परंतु बाद में पड़ौसियों ने बताया कि दोनों लिव इन रिलेशन में हैं। 

गुजरात के भाजपा नेता ने लोकप्रियता दिलाई

श्री भदौरिया बताते हैं कि ग्वालियर में बात नहीं बनी तो मिर्ची बाबा गुजरात चला गया। यहां गोधरा से पहले भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक हरेश भट्ट से मिला। हरेश भट्ट ने भी इसे गुजरात में प्रतिष्ठिा दिलाई। श्री भदौरिया कहते हैं कि गुजरात के कुछ कारोबारियों के साथ मिलकर इसने उज्जैन महाकुंभ में केंप लगाया था। उसी के हिसाब किताब में विवाद हुआ तो अब यह भोपाल में जाकर रहने लगा है। बता दें कि बाबा वैराग्यनंद उर्फ मिर्ची बाबा मिनाल रेसीडेंसी में रहता है।