Loading...

लापता दूल्हे का कंकाल मिला, पास में लड़की के कटे हुए अंग भी मिले | MORENA MP NEWS

मुरैना। खिरेंटा से दो महीने पहले गायब युवक का कंकाल गुरुवार को मान्य गांव के जंगल में मिला है। अंबाह पुलिस ने घटनास्थल से एक किशोरी के शरीर के कटे हुए अंग की अस्थियां भी जब्त की हैं। मृत युवक के पिता कालीचरण माहौर ने पैंट देखकर अपने बेटे की शिनाख्त की है। घटनास्थल से पुलिस को शादी के कार्ड व काले रंग का बैग भी मिला है। जब्त अस्थियों को जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, खिरेंटा का रहने वाला वीरेंद्र (22) पुत्र कालीचरन माहौर एक अप्रैल को अपने ही विवाह के आमंत्रण कार्ड रिश्तेदारियों में बांटने के लिए पिता की बाइक से धाैलपुर व आगरा गया था। एक अप्रैल की शाम तक वीरेंद्र की पिता से मोबाइल पर बातचीत हुई लेकिन उसके बाद उसका मोबाइल स्विच ऑफ हो गया जो अभी तक बंद आ रहा है।

गुरुवार को मान्य गांव के बीहड़ में वीरेंद्र के कंकाल की अस्थियां मिली हैं। घटनास्थल पर वीरेंद्र का पैंट मिला है, जिसे देखकर उसके पिता कालीचरन ने शिनाख्त की है कि वह पैंट उसके बेटे का ही है। पैंट में लगे बेल्ट काे देखकर कालीचरन ने कहा कि यह बेल्ट मेरा है जिसे वीरेंद्र अपने पैंट में लगाकर चिट्ठियां बांटने निकला था। पुलिस ने बीहड़ से एक काला बैग भी जब्त किया है, जिसमें वीरेंद्र की शादी के 30 से अधिक कार्ड रखे हैं। इससे जाहिर हो गया है कि एक अप्रैल से लापता वीरेंद्र का मर्डर कर दिया गया है।

अंबाह पुलिस ने उसी घटनास्थल से एक किशोरी का जबड़ा भी जब्त किया है। पुलिस को किशोरी के सिर के बाल, खून से लथपथ कपड़े, रिबिन, चप्पल व पायल भी मिली हैं। ऐसा माना जा रहा है कि दिमनी में जिस किशोरी की गुमशुदगी एक अप्रैल को दर्ज हुई है, ये कंकाल व हडि्डयां उसी की हैं।

प्रेम-प्रसंग से जोड़कर पूरे मामले की जांच कर रही है पुलिस :

पुलिस प्रथम दृष्टया यह मानकर चल रही है कि वीरेंद्र माहौर की हत्या प्रेम-प्रसंग के कारण की गई है। वीरेंद्र पर खिरेंटा गांव के एक परिवार का आरोप है कि वह उनकी बेटी को एक अप्रैल को कुर्री दिमनी से भगाकर ले गया है। उल्लेखनीय है कि प्रेम-प्रसंग के कारण उस किशोरी को उसके परिजन ने पांच महीने पहले खिरेंटा गांव से किशोरी के मामा के गांव कुर्री में शिफ्ट कर दिया था। एक अप्रैल को वीरेंद्र शादी की चिट्ठियां बांटने निकला था और एक अप्रैल को ही वह किशोरी कुर्री गांव से अचानक लापता हो गई थी। चर्चा यह निकलकर आ रही है कि वीरेंद्र का पीछा, किशोरी के परिजन ने किया और जंगल में वीरेंद्र समेत किशोरी की हत्या कर दी।