Loading...

INDORE SI 2 महीने तक सुसाइड स्टेटमेंट वाला VIDEO ​छुपाए रहा | MP NEWS

इंदौर। यह घटना तो प्राइवेट स्कूल संचालक महिला के सुसाइड की है परंतु संदेह की जद में अब इसी घटना का जांच अधिकारी एसआई विशम्भर सिंह कुशवाह आ गए हैं। महिला के पास से एक मोबाइल मिला था। पुलिस ने उसे जब्त भी किया परंतु मोबाइल की जांच नहीं की। एसआई ने कहा कि मोबाइल गुम हो गया है और फाइल क्लोज कर दी। अब अचानक बताया कि मोबाइल मिल गया है और फाइल खोल दी गई। इसी मोबाइल में वो वीडियो है जिसमें महिला ने सुसाइड का कारण बताया है। क्यों ना यह संदेह किया जाए कि जांच अधिकारी आरोपियों के साथ कोई डील कर रहा था इसलिए मामले को छुपाया। डील पूरी नहीं हुई तो मोबाइल सार्वजनिक कर दिया। 

मामला क्या है 

घटना लसूड़िया थाना क्षेत्र स्थित सिंगापुर ग्रीन व्यू की है। 24 अक्टूबर 2018 को अंजलि पाठक (26) ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। लसूड़िया पुलिस ने मर्ग कायम किया था। मामला नवविवाहिता की मौत का होने से विजय नगर सीएसपी पंकज दीक्षित को जांच सौंप दी गई। पुलिस ने मौके से एक मोबाइल जब्त किया। सात महीने जांच के नाम पर निकाले और फाइल बंद कर दी। आठ दिन पूर्व वह मोबाइल थाने में ही मिल गया, जिसमें उसका वह वीडियो था जिसे मौत के ठीक पहले अंजलि ने खुद बनाया था। भाई विपिन के मुताबिक, अंजलि की शादी छह वर्ष पूर्व हुई थी। उसने घटना के कुछ दिन पूर्व ही स्कूल खोला था। जीजा हिमांशु सॉफ्टवेटर इंजीनियर है। उनका पांच साल का बेटा आर्यन है। हिमांशु अंजलि को परेशान करता था। इस कारण उसने वीडियो रिकॉर्डिंग कर फांसी लगा ली थी।

एसआई विशम्भर सिंह कुशवाह की भूमिका संदिग्ध

विपिन के अनुसार, पुलिस ने जो मोबाइल जब्त किया उसकी जांच ही नहीं करवाई। सीएसपी ऑफिस में पदस्थ एसआई विशम्भर सिंह कुशवाह ने कहा मोबाइल अलमारी से गुम हो गया है। तलाशने का बहाना बनाकर दो महीने निकाल दिए। उसके बाद कहा मोबाइल को फोरेंसिक जांच के लिए हैदराबाद भेजा है। अंजलि के पिता एक महीने बाद पहुंचे तो एसआई ने कहा सिटीजन कॉप पर मोबाइल गुम होने की शिकायत कर दो। वैसे तो उसमें डेटा डिलिट कर दिया था। चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन फिर भी हम ढूंढ लेंगे। परिजन ने मोबाइल गुम होने की रिपोर्ट लिखाने से मना कर दिया। आठ दिन पूर्व अचानक लसूड़िया थाने से कॉल आया और कहा कि अंजलि का मोबाइल मिल गया है। विपिन ने मोबाइल सुपुर्दगी में लिया तो पैटर्न लॉक था। पुलिस ने उसकी जांच ही नहीं की थी। दोस्त की मदद से लॉक खुलवाया तो एक वीडियो मिला। जिसमें अंजलि रो रही है। पंखे से रस्सी भी लटकी हुई है।

वीडियो में क्या बयान दर्ज है

आर्यन (बेटा) मैं तुझे बहुत प्यार करती हूं। शोना ने मुझे धोखा दिया जिसे मैं बर्दाश्त नहीं कर सकती। मुझे माफ कर देना। मैं तुमसे दूर नहीं रहना चाहती। लेकिन क्या करूं मैं नहीं जी पा रही हूं। मैं मरना चाहती हूं और मैं मर रही हूं। अपना ध्यान रखना आर्यन। (जैसा अंजलि ने मरने के पहले वीडियो में कहा)