Loading...

INDORE NEWS : भाई ने प्रेग्नेंट बहन की गोली मारकर हत्या की

इंदौर। बेटमा के रावद गांव में शनिवार दोपहर को ऑनर किलिंग का सनसनीखेज मामला सामने आया। राजपूत समाज के 24 वर्षीय कुलदीप राजावत (Kuldeep Rajawat) और जाट समाज की 21 वर्षीय बुलबुल (BULBUL) दोनों इसी गांव में पले बढ़े। बचपन से ही वे एक दूसरे को पहचानते थे। आठ महीने पहले कुलदीप और बुलबुल ने महू के आर्य समाज में शादी कर ली थी। इस बात की भनक लगने के बाद बुलबुल के परिवार वाले काफी नाराज थे। जबकि कुलदीप के परिवार ने बेटे-बहू को स्वीकार लिया था। इसमें एक नाबालिग भाई ने ससुराल के आंगन में ही बड़ी गर्भवती बहन की गोली मारकर हत्या कर दी। उसे छह महीने का गर्भ था। उसके बाद वो थाने पहुंच गया और खुद को पुलिस के हवाले कर दिया। बहन ने 10 महीने पहले दूसरी जाति के युवक से प्रेम विवाह किया था। इस बात को लेकर वो नाराज था। 

शादी के बाद कुलदीप और बुलबुल दोनों पीथमपुर रहने चले गए थे। कुलदीप पीथमपुर में ही एक बड़ी निजी कंपनी में काम करता था। शादी के बाद कुलदीप बुलबुल को लेकर दो-तीन बार गांव आ चुका है। शनिवार को भी वो सुबह 10 से 11 के बीज बुलबुल को लेकर घर पहुंचा था। दोपहर 12 बजे बुलबुल का 17 वर्षीय नाबालिग छोटा भाई दोपहर 12 बजे भागते हुए बुलबुल के ससुराल पहुंचा और घर के पीछ आंगन में बैठी बहन को सिर पर गोली मार दी। फिर भागते हुए बाहर आया और सीधे थाने पहुंच गया।

घटना के ठीक पहले ही कुलदीप अपने बड़े पिताजी से मिलने घर से बाहर गया था। घटना के दौरान कुलदीप की मां मंजू बाई और भाई संजय घर पर मौजूद थे। बुलबुल और सास मंजूबाई दोनों घर के पिछले हिस्से में बने चौक में बैठकर बातें कर रहे थे। अचानक बुलबुल का भाई सामने आया और कनपटी पर बंदूर अड़ाकर गोली मार दी। गोली की आवाज आई तो संजय भागकर कमरे में पहुंचा। बुलबुल तड़प रही थी और मंजू बाई बेहाल थी। खून से लथपथ बुलबुल को परिजन एमवायएच अस्पताल लेकर आए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बुलबुल के पति कुलदीप ने बताया कि दस महीने पहले जब हमारी शादी हुई थी। उसके बाद बुलबुल अपने घर चली गई थी। इस दौरान जब उसके बड़े भाई कार्तिक (KARTIK) को हमारी शादी का पता चला तो उसने बुलबुल के साथ जमकर मारपीट की थी। उसके मामा ने भी गला दबाने की कोशिश की थी। जानकारी लगने के बाद हम हाईकोर्ट से शादी को वैधता का करार लेकर बुलबुल को घर ले आए थे। इसी बात का उसके परिवार को गुस्सा था।

कुलदीप के छोटे भाई संजय का आरोप है कि बुलबुल की हत्या करने की योजनाबद्ध प्लानिंग की गई थी। उसका भाई अपने साथ दो रिश्तेदारों को भी लेकर आया था। वो घर के बाहर खड़े थे। जैसे ही कुलदीप बाहर निकला तो उन्होंने छोटे भाई को सूचना दे दी। उस मौके का फायदा उठाकर ही बुलबुल का भाई घर में घुसा और बहन को गोली मार दी।

बुलबुल के जेठ रवि राजावत ने बताया बुलबुल के परिवार वाले शुरू से ही इस विवाह के विरोध में थे। दोनों के रिश्ते के बारे में पता चलनेे के बाद बुलबुल को महू मामा के पास भेज दिया गया था लेकिन दोनों ने वहां आर्य समाज में गुपचुप शादी कर ली। जब उसके परिवार को इस बात की भनक लगी तो वे बुलबुल को अपने साथ वापस ले गए। काफी दबाव बनाया ताकि वो इस शादी से इंकार कर दे। इधर, कुलदीप के परिवार ने बुलबुल के लिए कोर्ट में आवेदन लगाया। सुनवाई के बाद कोर्ट ने बुलबुल को कुलदीप के साथ जाने की अनुमति दे दी। इसके बाद ही दोनों पीथमपुर में रहने लगे थे। सूचना मिलते ही बेटमा पहुंचे एसडीओपी आरके राय ने भी घटनास्थल का निरीक्षण कर हत्यारोपित भाई से पूछताछ की । हत्या में इस्तेमाल पिस्तौल को पुलिस ने जप्त कर लिया है।


प्रथम दृष्टया यह ऑनर किलिंग का मामला है। बहन के दूसरे समाज में शादी करने से नाराज था। इसलिए गोली मार दी। नाबालिग को गिफ्तार कर लिया गया। घटना में नाबालिग के साथ रेकी में शामिल दो युवकों रवि जाट और गब्बर जाट (Ravi jat and gabbar jat) के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। 

धीरेंद्रपाल सिंह चौहान, थाना प्रभारी, बेटमा

सबसे छोटा भाई है
बुलबुल के तीन भाई बहन है। सबसे बड़ी बहन है। उससे छोटा भाई है। बुलबुल तीसरे नंबर की है। चौथे नंबर पर सबसे छोटे भाई ने की हत्या।