Loading...

GWALIOR NEWS | रायरू से बेला की बावड़ी तक एबी रोड को मोटरेबल किया जाए: चेम्बर ऑफ कॉमर्स

ग्वालियर। रायरू से बेला की बावड़ी तक के आगरा-मुम्बई राष्ट्रीय राजमार्ग को वाहन चलने लायक बनाए जाने हेतु आज चेम्बर ऑफ कॉमर्स द्वारा कलेक्टर, ग्वालियर को पत्र प्रेषित किया गया है। ज्ञात रहे उक्त मार्ग के पुर्ननिर्माण का कार्य काफी धीमी गति से चल रहा है। ठेकेदार द्वारा मार्ग को खोदकर डाल दिया गया है, जिसके कारण वाहन चालकों का इस मार्ग पर आवागमन अत्यन्त कष्टप्रद हो गया है।

चेम्बर के अध्यक्ष-विजय गोयल, संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल, उपाध्यक्ष-पारस जैन, मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, मानसेवी संयुक्त सचिव-ब्रजेश गोयल एवं कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में अवगत कराया है कि रायरू से अटल द्वार तक उक्त मार्ग का निर्माण 4-लेन किया जाना है एवं अटल द्वार से बेला की बावड़ी तक के मार्ग को 2-लेन बनाया जाना है, परन्तु ठेकेदार द्वारा मार्ग का निर्माण कार्य अत्यन्त ही धीमी गति से किया जा रहा है, जिसके कारण वाहन चालक एवं उक्त मार्ग के स्थानीय निवासियों व व्यवसाई परेशान हो रहे हैं।

चेम्बर द्वारा जिलाधीश को प्रेषित किए गए पत्र में उल्लेख किया गया है कि बेला की बावड़ी से बहोड़ापुर चौराहा-ट्रांसपोर्ट नगर-मोतीझील-पुरानी छावनी से लेकर रायरू तक के इस राजमार्ग की स्थिति वर्तमान में अत्यन्त जर्जर होने के कारण इस मार्ग पर सभी प्रकार के वाहनों का संचालन बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है। उक्त मार्ग को ठेकेदार द्वारा खोदकर पटक दिया गया है। पूरे मार्ग पर भयंकर धूल उड़ रही है और मार्ग वर्तमान में चलने के लायक भी नहीं बचा है। उपरोक्त राजमार्ग पूरा खुदा होने के कारण भारी वाहनों में आए दिन टूट-फूट हो रही है, इससे ट्रांसपोर्ट को भारी आर्थिक हानि उठानी पड़ रही है। 

उपरोक्त मार्ग की स्थिति अत्यन्त दयनीय होने के कारण शहर से ट्रान्सपोर्ट नगर अथवा मोतीझील की ओर जाने वाले व्यवसाईयों एवं नागरिकों सहित स्थानीय निवासियों को भी काफी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। चेम्बर द्वारा कलेक्टर, ग्वालियर को लिखे गए पत्र में माँग की गई है कि बेला की बावड़ी से बहोड़ापुर चौराहा-ट्रांसपोर्ट नगर-मोतीझील से पुरानी छावनी एवं रायरू तक के राजमार्ग का जब तक निर्माण कार्य नहीं हो रहा है, तब तक इस मार्ग को वाहनों के चलने लायक (मोटरेबल) बनाने हेतु लोक निर्माण विभाग को आदेशित किया जाए, ताकि उक्त मार्ग पर सभी प्रकार के वाहनों का आवागमन सुगम हो सके और आए दिन होने वाली दुर्घटनाओं से नागरिकों को राहत मिल सके।